अब भूकंप का पहले चलेगा पता, भारत इस सिस्टम पर कर रहा है रिसर्च

नई दिल्ली (24 मई): अगर सबकुछ ठीक रहा तो आने वाले दिनों में भूकंप का पूर्वानुमान लगाया जा सकेगा। दरअसल भारत इन दिनों ऐसी प्रणाली पर काम कर रहा है जिससे भूकंम्प का पूर्वानुमान लगाया जा सके और इससे होने वाले नुकसान को कम किया जा सके।

आपको बता दें दुनिया में अभी कहीं पर भी भूकंप का पूर्वानुमान करने की प्रणाली नहीं है। इस दिशा में कार्य चल रहे हैं और भारत में भी प्रयास हो रहा है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्रालय से मिल रही जानकारी के मुताबिक IIT रूड़की और ताइवान मिलकर अध्ययन कर रहा है।

दरअसल देश भर में नेशनल सेंटर फार सिस्मोलॉजी के 84 स्टेशन हैं और 150 वेधशालाएं हैं। सभी केंद्र इस विषय पर अध्ययन कर रहे हैं. मंत्रालय से प्राप्त जानकारी के मुताबिक, विगत 30 वर्षो के भूंकप के डाटा के विश्लेषण से पता चलता है कि भूंकप की दर में कोई वृद्धि अथवा कमी नहीं आई है।