48 घण्टे में तीन बार भूकंप, खतरे में हैं देश का यह हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट

नई दिल्ली (20 मई): अड़तालीस घण्टों के दौरान महाराष्ट्र के कोयना में तीन बार भूकंप के झटके लगने से भूगर्भ विज्ञानियों और सरकार के कान खड़े कर दि्ये हैं। विज्ञानियों को आशंका है कि ये हलचल किसी बड़ी दुर्घटना का संकेत हो सकते हैं। महाराष्ट्र का कोयना भूकंप के लिहाज से संवेदनशील क्षेत्र है। यहां बुधवार को दो बार 3.7 और 3.9 तीव्रता का झटका लगा था। गुरुवार रात साढ़े ग्यारह बजे के फिर से आये भूकंप ने लोगों की चिंता व्यक्त की है। आखिरी बार आये भूकंप का केंद्र जमीन के 15 किलोमीटर नीचे था।

हालांकि तीनों बार के भूकंप से किसी तरह के जानमाल की खबर नहीं है,लेकिन हमेशा सब कुछ ठीक ही रहे- ऐसा असंभव है। विज्ञानियों ने चेतावनी दी  है कोयना से डाम और हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट को नुकसान हो सकता है। पिछले साल मार्च में यहां 5.1 तीव्रता का भूकंप आया था लेकिन उसका केंद्र जमीन के लगभग 30 किलोमीटर नीचे था। 1967 में आये भूकंप से कोयना डाम को भारी नुकसान हुआ था। उसके बाद से अब तक इस इलाके में एक हजार झटके लग चुके हैं।