महबूबा ने की रमजान के दौरान 'ऑपरेशन ऑल आउट' को रोकने की मांग

नई दिल्ली(10 मई): जम्मू कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती ने केंद्र से रमजान के दौरान ऑपरेशन ऑल आउट को रोकने की मांग की है। महबूबा ने कहा है कि रमजान और अमरनाथ यात्रा के दौरान आतंकियों के साथ मुठभेड़ बंद होनी चाहिए।महबूबा का साफ कहना है कि घाटी में मुठभेड़ और सर्च ऑपरेशन की वजह से जनता को दिक्कत होती है। बता दें कि सोमवार को पत्थरबाजों के हमले में चेन्नै के एक पर्यटक की मौत हो गई थी। वहीं कुछ दिन पहले पत्थरबाजों के हमले में करीब आधा दर्जन पर्यटक घायल हुए थे। पर्यटक की मौत से आहत महबूबा मुफ्ती ने इसकी कड़ी आलोचना की थी और दो टूक कहा था कि हत्या की नीयत से पथराव करनेवालों का कोई मजहब नहीं है। ये इंसानियत की हत्या है। इसके बाद उन्होंने सर्वदलीय बैठक का आह्वान किया था।बुधवार को सर्वदलीय बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में महबूबा ने कहा, 'हम सभी इस बात पर सहमत हुए हैं कि हम केंद्र से अपील करेंगे कि वह सीमा पर सीजफायर के लिए अपनी तरफ से पहल करे। वर्ष 2000 में तत्कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ऐसा कर चुके हैं। मुठभेड़ और झड़प से घाटी में सैन्य आम जनता को दिक्कतें हो रही हैं। हमें ऐसा माहौल तैयार करना होगा कि ईद और अमरनाथ यात्रा दोनों शांतिपूर्वक संपन्न हो सके।'बीजेपी और पीडीपी गठबंधन की नीतियों को प्रदेश हित में बेहतर बताते हुए महबूबा ने कहा, 'सभी इस बात पर सहमत दिखे कि अगर बीजेपी और पीडीपी गठबंधन के अजेंडा का सही से अनुसरण किया गया तो प्रदेश के हालात बदल सकते हैं।' महबूबा ने कहा कि बैठक में सभी दल इस बात पर राजी हुए हैं कि हम प्रदेश के वर्तमान हालात और अपनी चिंताओं को पीएम मोदी के समक्ष रखेंगे।