यहां मिलेंगी 'नौकरियां ही नौकरियां'

नई दिल्ली (28 जुलाई): आने वाले दिनों में भारत में ई-कॉमर्स में और भी बढ़ोतरी देखने को मिलेगी। ई-कॉमर्स देश में नौकरियों को भी बढ़ावा देने में काफी मददगार होगा। 

- एक रिपोर्ट के मुताबिक, आने वाले दशक में 8 करोड़ नई नौकरियों की जरूरत होगी। - ग्लोबल फाइनैंशियल सर्विस प्रदान करने वाले HSBC के मुताबिक, "ई-कॉमर्स पहले से ही 10 लाख भारतीयों को रोजगार दे रहा है। ई-कॉमर्स सर्विस सेक्टर जॉब्स में एक नया सोर्स बन सकता है।" - यंग पॉपुलेशन, तेजी से बढ़ता स्मार्टफोन्स का उपयोग और डिजिटल पेमेंट के क्षेत्र में आई क्रांति ई-कॉमर्स को बड़े पैमाने पर बढ़ावा देती है। - हालांकि, भारत इंटरनेट की पहुंच और ऑनलाइन खरीददारी के मामले में चीन के मुकाबले 7 साल पीछे चल रहा है। - ई-कॉमर्स भी ऐसी ही ऊंचाई पर पहुंच सकता है। - ऑनलाइन खरीददारी के बढ़ने से ई-कॉमर्स 2 करोड़ नई नौकरियां पैदा कर सकता है। जिसमें लॉजिस्टिक्स एंड डिलिवरी (70 फीसदी) और कस्टमर केयर, आईटी एंड मैनेजमेंट (30 फीसदी) के हिसाब से नौकरियां पैदा होंगी। - हालांकि, इसका नतीजा होगा कि कुछ जॉब्स परंपरागत स्टोर्स में जरूर खत्म होंगी। - रिपोर्ट के मुताबिक, बिजनेस-एस-यूजुअल के आकलन के हिसाब से भारत में अगले दशक के दौरान 2.4 करोड़ नौकरियों की कमी होगी। जिसमें से आधी नौकरियां ई-कॉमर्स भर सकता है।