ड्रोन से कांवड़ियों की सुरक्षा करेगी पुलिस

पीयूष गौड़, गाजियाबाद (24 जुलाई): कांवड़ यात्रा को लेकर जिला प्रसाशन ने कमर कस ली है। गाज़ियाबाद के मेरठ तिराहे पर कांवड़ के लिए बने कंट्रोल रूम का उद्घाटन किया गया। जिसमें जिला प्रसाशन, पुलिस और सिविल डिफेंस साथ मिलकर कांवड़ यात्रा पर नजर रखेंगे। इस मौके पर ड्रोन कैमरे से भी नज़र रखी जाएगी।

गाज़ियाबाद में करीब पचास किलोमीटर का ऐसा रूट है, जहां से कांवड़िए गुजरते है। इसके अलावा ऐतिहासिक दूधेश्वर नाथ मंदिर भी है, जहां लाखों कांवडिये जल चढ़ाते है। यातायात व्यवस्था दुरुस्त हो इसके पुरे इंतेजाम किए गए है। करीब 2000 पुलिसकर्मी और 650 से ज्यादा सिविल डिफेंस के लोग कांवड़ यात्रा को सफल और सुरक्षित बनाने में लगाए गए है। इसके अलावा सभी तरह के सुरक्षा इंतेजामात किए गए है।

आज से एनएच-58 से भरी वाहनों को प्रतिबंधित कर दिया गया है। 28 जुलाई से सभी तरह के वाहनों को यहां बंद कर दिया जाएगा। ऐसे में एनएच 58 से जाने वाले यात्रियों को वैकल्पिक मार्गो से ही अपने गंतव्य तक पहुंचना होगा। गाज़ियाबाद में अभी कांवड़ियों के आने की संख्या कम है। 26 जुलाई से यहां कांवड़ियों की संख्या बढ़ने लगेगी। गाज़ियाबाद से होकर दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान के कांवड़िये बड़ी संख्या में गुजरते है। इसके अलावा दूधेश्वर नाथ मंदिर पर भी लाखों की संख्या में कांवड़िये पहुंचते है। ऐसे में इस यात्रा को सौहार्द्रपूर्ण करने के लिए पुलिस प्रसाशन ने कमर कास लिए है।