आपके इशारों पर चलेगी ये कार, आंख बंद होने पर भी नहीं होगा एक्सीडेंट

नई दिल्ली (12 फरवरी): अभी ऑटोमोबाइल कंपनियां गियरलेस कार बना रहीं हैं,बैक सेंसर कैमरा और लेजर सेंसर कार भी सड़कों पर उतर आयी हैं। इसके बावजूद सड़क एक्सीडेंट्स में कमी नहीं आ रही है। सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने के लिए अब ड्राइवरलेस कार सड़कों पर उतारी जा रही हैं। जी हां, इन ड्राइवरलेस कार का परीक्षण अमेरिका और इंग्लैण्ड शुरु हो गया है।

'डेलीमेल डॉट को डॉट यूके' की रिपोर्ट्स के अनुसार इंग्लैण्ड ड्राइवरलेस कार प्रोजेक्ट पर 20 मिलियन पौण्ड खर्च कर रहा है। लंदन के हीथ्रो हवाई अड्डे पर पैसेंजर्स को एक टर्मिनल से दूसरे टर्मिनल तक बिना किसी बाधा के पहुंचा रही है। इंग्लैण्ड के इंस्टिटयूट ऑफ मैकेनिकल इंजीनियर्स के ट्रांस्पोर्ट डिपार्टमेंट की प्रमुख फिलिप्पा ऑल्डहम ने कहा है कि ड्राइवरलेस कार आ जाने से यूनाईटेड किंगडम को हर साल 51 बिलियन प्रति वर्ष का फायदा होगा।