नशे में गाड़ी चलाई तो करना पड़ेगा मुर्दाघर में काम

नई दिल्ली(16 अप्रैल): थाइलैंड में अब अगर कोई नशे में गाड़ी चलाते हुए पकड़ा जाएगा, तो उसे मुर्दाघर में काम करने के लिए भेजा जा सकता है। थाइलैंड दुनिया का दूसरा ऐसा देश है, जहां सबसे ज्यादा सड़क हादसे होते हैं

थाइलैंड की सड़कें दुनिया की सबसे खतरनाक सड़कें हैं। गौरतलब है कि अप्रैल 13 को थाइलैंड का नया साल होता है, जिसे 'Songkran' कहा जाता है। यहां पर नए साल का जश्न 3 दिन तक चलता है। इसी को ध्यान में रखते हुए थाइलैंड पुलिस ने इस साल अगल तरह की योजना बनाई है। इस योजना के अनुसार अगर कोई व्यक्ति ड्रिंक-ड्राइविंग करते पाया गया, तो सजा के तौर पर उसको थाइलैंड के मुर्दाघर में काम करना पड़ेगा।

थाई कैबिनेट ने पिछले हफ्ते ही इस योजना को मंजूरी दी है। इसे अंतिम रूप भी दे दिया गया है कि इस तरह के ड्रिंक-ड्राइविंग केस में कोर्ट अपना फैसला सुनाने के लिए कोर्ट पूरी तरह से स्वतंत्र है। हालांकि अभी ये निश्चित नहीं किया गया है कि ड्रिंक-ड्राइविंग के आरोपी को मुर्दाघर में क्या काम करना पड़ेगा, इस बात का निर्णय केस की गम्भीरता को देखते हुए किया जाएगा। 

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की एक रिपोर्ट के अनुसार थाइलैंड की सड़कों पर 2013 में 24,237 लोगों ने अपनी से जान गंवाई थी। थाइलैंड की सड़कें दुनिया में दूसरी सबसे खतरनाक सड़कें मानी जाती हैं। हर साल थाइलैंड में सड़क दुर्घटनाओं में करीब 24 हजार लोगों की मौत हो जाती है।  जबकि पूरी दुनिया में उत्तरी अफ्रीका में स्थित देश लीबिया में सड़क हादसों में सबसे अधिक लोगों की मौत होती है। है