'मंदिर में भगवान के साथ होगी इस दुर्दांत डकैत की पूजा'

ऩई दिल्ली (2 फरवरी): उत्तर प्रदेश फतेहपुर में एक ऐसा मंदिर बनाया गया है जहां हनुमानजी के साथ में डकैत की भी पूजा होगी। जिले के धाता ब्लॉक के कबरहा गांव में चार फरवरी से कुख्यात दस्यु ददुआ के हनुमान मंदिर में अब उसकी भी मूर्ति लगायी जा रही है। जिसका अनावरण 4 फरवरी से शुरु होने वाले 10 दिवसीय वार्षिकोत्सव में होगा।

मंदिर में ददुआ के अलावा उसकी मां कृष्णा देवी, पिता रामप्यारे सिंह लंबरदार और पत्नी सियादेवी उर्फ बड़ी बुइया की मूर्तियों भी लगायी जा रही हैं। इस दस दिवसीय समारोह की बागडोर ददुआ के भाई एवं पूर्व सांसद बाल कुमार संभाल रहे हैं। तीन दशक तक बीहड़ की बादशाहत करने वाले ददुआ ने हनुमान मंदिर की नींव वर्ष 2000 में रखी थी।

14 फरवरी वर्ष 2006 में मंदिर में राम-जानकी व भगवान शंकर व हनुमान जी की मूर्तियों की स्थापना धूमधाम से कराई थी। उस समय चप्पे-चप्पे पर फोर्स लगी होने के बाद भी ददुआ भेष बदल कर आया और मंदिर में पूजा करके चला गया था। 22 जुलाई 2007 को पुलिस मुठभेढ में मारे जाने से पहले तक पुलिस के पास ददुआ की फोटो तक नहीं थी। वो हमेशा पुलिस के लिए एक पहेली बना रहा था। अब इसी मंदिर में  उसकी भी मूर्ति लगने जा रही है।