बोर्ड परीक्षा में नकल रोकने के लिए योगी सरकार ने उठाया बड़ा कदम

नई दिल्ली ( 30 मार्च ): उत्तर प्रदेश में बोर्ड परीक्षाओं में नकल रोकने के लिए अब योगी सरकार बड़ा कदम उठाने जा रही है। उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने जिला विद्यालय निरीक्षकों के साथ कॉन्फ्रेंसिंग में नकल कराने वाले शिक्षकों को सस्पेंड करने सहित दूसरी कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इसको अमल में लाने के लिए कॉन्फ्रेंस के बाद जिला विद्यालय निरीक्षकों ने अपने जिलों में स्कूल प्रबंधकों व व्यवस्थापकों को नकल अध्यादेश 1998 के अंतर्गत कार्रवाई की चेतावनी तक दे डाली है।


उन्होंने चेताया है कि यदि किसी परीक्षा केंद्र में यूपी बोर्ड परीक्षा को लेकर बार-बार दिये जा रहे दिशानिर्देशों का अनुपालन नहीं किया जा रहा है और वहां नकल हो रही है, तो उस विद्यालय की मान्यता रद की जाएगी। किसी भी परीक्षा केंद्र के प्रबंधक, प्रधानाचार्य या कक्ष निरीक्षक यदि नकल कराने में शामिल पाये गए तो उनके खिलाफ भी कड़ी कार्यवाही होगी।


उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने नकल रोकने के लिए पिछले दिनों डीएम-एसएसपी के साथ बैठक की। उसके बाद भी कई जिलों से नकल की सूचना आने के बाद बुधवार को उन्होंने डीआईओएस पर नकेल कसी और उनकी जिम्मेदारी तय की। शिक्षा विभाग के अधिकारियों से साफ कहा गया है कि नकल रोकने के नाम पर छात्रों का उत्पीड़न नहीं होना चाहिए। नकल के लिए जो दोषी हैं उनके खिलाफ हर संभव कार्रवाई की जाए।