पनामा पेपर केस: जेआईटी ने नवाज शरीफ और उनके भाई को पूछताछ के लिए बुलाया

नई दिल्ली ( 14 जून ): पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के परिवार के खिलाफ हाई प्रोफाइल पनामा भ्रष्टाचार मामले की जांच कर रही संयुक्त जांच टीम (जेआईटी) ने प्रधानमंत्री और नवाज भाई और पंजाब के मुख्यमंत्री को समन भेजा है।नवाज के बेटों से पहले ही जेआईी पूछताछ कर चुकी है।  


खबरों के मुताबिक शाहबाज शरीफ को जेआईटी के समक्ष 11 बजे पेश होने के लिए समन प्राप्त हुआ है। समन में कहा गया है कि शाहबाज को जेआईटी के समक्ष 17 जून को अपना बयान दर्ज करने के लिए उपस्थित होना है।


नवाज शरीफ को हाई प्रोफाइल पनामागेट रिश्वत मामले की जांच कर रहे संयुक्त जांच दल के समक्ष गुरुवार को पेश होने के लिए समन किया गया है। वह देश के पहले प्रधानमंत्री होंगे जो पद पर रहते हुए इस प्रकार के किसी पैनल के समक्ष पेश होंगे। पिछले दिनों जेआईटी ने नवाज के बेटों हुसन और हुसैन से भी कई बार पूछताछ की थी।


पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज 1999 में हुदाबिया पेपर मिल्स (एचपीएम) के निदेशक थे। शाहबाज ने उसी वर्ष लंदन स्थित अल-टॉफ़िक कंपनी के साथ सेटेलमेंट किया था। नेशनल अकाउंटेबिलिटी ब्‍यूरो(एनएबी) के दस्तावेजों के अनुसार शहबाज और उनके पुत्र हमजा को 17 साल पहले एचपीएम घोटाले में आरोपी बनाया गया था। तब एनएबी ने शरीफ परिवार पर 1 बिलियन डॉलर से ज्‍यादा का भ्रष्‍टाचार करने का आरोप लगाया था।