"मुझे ख़त्म मत मानिए...मैं अभी मौजूद हूं"

नई दिल्ली (22 जून) :  भारतीय रिज़र्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने कहा है कि उन्हें अभी ख़त्म नहीं माना जाए।

टाइम्स ऑफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु में एसोचैम में बुधवार को अपने भाषण में राजन ने कहा,  "मैं खुद को अपने आख़िरी दिनों में महसूस कर रहा हूं। मैंने अपने लिए बहुत से शोक संदेश पढ़े हैं। और इस जॉब (गवर्नर) में मेरे लिए अभी ढाई महीने बचे हैं। इसके बाद भी मैं दुनिया में कहीं ना कहीं मौजूद रहूंगा। सभंवत: बहुत वक्त भारत में। इसलिए मुझे ख़त्म नहीं लिखा जाए।"  

बता दें कि राजन ने जब से गवर्नर का दूसरा कार्यकाल नहीं लेने का एलान किया है तब से वे अपने आलोचकों पर चुटीले अंदाज़ से कटाक्ष कर रहे हैं। राजन ने ऐसा करते हुए कहीं भी अपने मुखर आलोचक बीजेपी सांसद सुब्रमण्यिन स्वामी का नाम नहीं लिया।  

राजन ने बेंगलुरु में कहा, "मैं यहां वित्तीय कठिनाई के प्रस्ताव पर बात करने के लिए हूं। जन्म के एलान करने की जगह शोक संदेश पर बात कर रहा हूं।"

बता दें कि दो दिन पहले राजन ने कहा था लोग दोनों चीज़ें एक साथ नहीं रख सकते- कम मुद्रास्फीति और नीचे पॉलिसी रेट्स। राजन का यह जवाब उन लोगों के लिए था जो ऊंची ब्याज दरों के लिए राजन की आलोचना करते रहे हैं।  

राजन ने इस हफ्ते के शुरू में कहा था कि आरबीआई विकास पर ध्यान रखने के लिए मुद्रास्फीति को नहीं छोड़ सकता।