बच्चों के सामने गलती से भी नहीं करनी चाहिए ये बात, नहीं तो...

नई दिल्ली ( 4 जनवरी ): बच्चे बुरी आदतें बहुत जल्द सीखते हैं। उनकी बुरी आदतें माता पिता को गुस्सा भी जल्द दिला जाती हैं। इसका नतीजा ये होता है कि आप अपना आपा खो बैठते या बैठती हैं और अपने बच्चे को कई बार काफी भला बुरा कह बैठती हैं। 

माता-पिता दोनों को ही इस बात का ख्याल रखना चाहिए की अपने बच्चे की गलत बात वो जरूर डांटे लेकिन डांटते समय इन बातों का ख्याल रखें।

-बच्चे की तुलना अपने बचपन से न करें। उसे कहना कि जब आपकी उम्र इतनी थी तो ही आप जिम्मेदार हो गए थे, गलत होगा।

-बच्चे को हर गलती के लिए दोषी ठहराना सही नहीं है। हर बार उसके फैसलों के लिए उसे टोकना और गलत बताना सही नहीं है।

-कभी भी बच्चे की तुलना उसके भाई-बहनों के साथ न करें। इससे उसके मन में आपके लिए निगेटिव सोच तो आएगी ही साथ ही वह अपने भाई-बहनों के साथ भी सहज नहीं रह पाएगा।

-कभी भी बच्चे के अस्तित्व पर सवाल न उठाएं। इससे उसे गहरी चोट पहुंच सकती है।

-बच्चे को उसके दोस्तों के लिए भला-बुरा कहना भी सही नहीं है।