एजुकेशन लोन पर छात्रों को रघुराम राजन ने किया आगाह

नई दिल्ली (7 मई) :  भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर रघुराम राजन ने छात्रों को एजुकेशन लोन को लेकर आगाह किया है। राजन ने छात्रों से कहा है कि वे ऐसे 'बेशर्म स्कूलों'  के जाल में ना फंसे जो उन्हें भारी कर्ज़ और बेकार डिग्रियों में फंसा देते हैं।

राजन ने कहा कि उच्च गुणवत्ता वाली रिसर्च यूनिवर्सिटीज़ में शिक्षा निकट भविष्य में भी महंगी बनी रहेगी। राजन के मुताबिक ऐसे प्रयास किए जाने चाहिए कि सभी योग्य छात्रों की डिग्री तक पहुंच बन सके।

राजन ने कहा कि यहां एजुकेशन लोन को भी एक ज़रिया माना जाता है। लेकिन हमे ध्यान रखना होगा कि स्टूडेंट लोन पूरी तरह वो वापस करें जो इसकी क्षमता रखते हैं। लेकिन जो मुश्किल हालात में फंस जाते हैं या जो कम वेतन वाले जॉब स्वीकार करते हैं, उन्हें लोन का कुछ हिस्सा माफ़ कर राहत दी जा सकती है।  

नोएडा में एक प्राइवेट यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में राजन ने कहा कि हमें ये सुनिश्चित करना चाहिए कि बेशर्म स्कूल ऐसे छात्रों को शिकार ना बनाए जो वास्तविकता से अनभिज्ञ हैं और उन्हें मोटे कर्ज और बेकार डिग्रियों के साथ मंझधार में फंसा देते हैं।

राजन ने कहा कि प्राइवेट शिक्षा पूरी दुनिया में महंगी है और वक्त के साथ ये और महंगी होती जा रही है।