राष्ट्रपति बनते ही ट्रंप ने दिया 'बाय अमेरिकन और हायर अमेरिकन' का नारा

वाशिंगटन (20 जनवरी): 70 साल के डोनाल्ड ट्रम्प अमेरिका के 45वें प्रेसिडेंट बन गए हैं। चीफ जस्टिस जॉन रॉबर्ट्स ने उन्हें शपथ दिलाई। अब्राहम लिंकन और मां से मिली बाइबल पर हाथ रखकर शपथ लेने के बाद ट्रम्प ने स्पीच दी। 20 मिनट की स्पीच में उन्होंने चार बार जॉब्स शब्द का इस्तेमाल किया। उन्होंने कहा कि अमेरिकियों को जॉब्स के मौके मिलेंगे। उनका काम उनसे कोई नहीं छीनेगा।

राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रंप ने शुक्रवार को पहले भाषण में साफ कर दिया कि उनका देश अमेरिका फर्स्ट की नीति पर चलेगा और यही उनकी सरकार का मूलमंत्र होगा। चुनावी वादों को दोहराते हुए उन्होंने कहा कि हम अमेरिका में नौकरियां-पूंजी वापस लाएंगे और देश को फिर से महान बनाएंगे।

परंपरा से अलग ट्रंप ने लिखा हुआ भाषण नहीं पढ़ा। आर्थिक एजेंडे को प्राथमिकता देते हुए रिपबिल्कन राष्ट्रपति ने स्पष्ट किया कि व्यापार, कर, श्रम, विदेश या अप्रवासियों का मामला हो, अब अमेरिका जनता का हित सबसे ऊपर रहेगा। उनकी सरकार बाय अमेरिका और हायर अमेरिकी की नीति पर आगे बढ़ेगी।

पहले की सरकारों को कठघरे में खड़ा करते हुए ट्रंप ने कहा, ‘अभी तक हम दूसरे देशों की सेनाओं को मदद देते रहे और हमारी सेना कमजोर रही। नेता अमीर हुए, जनता गरीब हुई, हमने दूसरे देशों में विदेशी निवेश किया और देश में कंपनियां-कारखाने बंद हुए। लेकिन अब अमेरिकी हाथों और अमेरिकी तकनीक से देश आगे बढ़ेगा।

साथ ही उन्होंने कहा कि अमेरिका की बॉर्डर्स महफूज की जाएंगी। दुनिया से हम इस्लामिक टेररिज्म का निशान मिटा देंगे। ट्रम्प ने बॉर्डर्स शब्द का इस्तेमाल भी चार बार किया।

ट्रंप के भाषण की बड़ी बातें...

-मैं 'बाय अमेरिकन और हायर अमेरिकन' का अनुसरण करूंगा

- हम अमेरिका को फिर से महान बनाएंगे

- हम किसी भी रंग के हों। हम सभी अमेरिकी हैं

-अब बात करने का समय खत्म हो गया है। अब ऐक्शन लिया जाएगा

-हम धरती से कट्टर इस्लामिक आतंकवाद को मिटा देंगे

-मैं सबकुछ पहले अमेरिकियों के लिए करूंगा। मैं आपको सबकुछ वापस दिलाऊंगा

-हम अमेरिकी हाथों से ही अपना देश बनाएंगे

-अब बात करने का समय खत्म हो गया है। अब ऐक्शन लिया जाएगा

- हम वॉशिंगटन डीसी से लोगों को ताकत लौटा रहे हैं

- यह वक्त आपका है। यह उनका है जो यहां आए हैं और अमेरिका लोग जो इसे देख रहे हैं

- आज से अमेरिका जनता की लूट बंद

- मैं सबकुछ पहले अमेरिकियों के लिए करूंगा

-आज से अमेरिका की जनता ही शासक है

- आज से अमेरिका जनता की लूट बंद