ट्रंप ने पाकिस्तान को जमकर लताड़ा, भारत को बताया- आतंकवाद का विक्टिम

नई दिल्ली(22 मई): राष्ट्रपति बनने के बाद डोनाल्ड ट्रम्प पहले विदेश दौरे पर सऊदी अरब पहुंचे। उन्होंने कहा कि आतंकी खुदा को नहीं बल्कि मौत को पूजते हैं। अमेरिका से लेकर भारत और ऑस्ट्रेलिया से लेकर रूस तक सब आतंकवाद के विक्टिम हैं। यहां बार-बार आतंकी हमले करते रहे हैं।

- इससे पहले उन्हाेंने सऊदी के किंग सलमान बिन अब्दुलअजीज अल सऊद से मुलाकात की।

- इस दौरान दोनों देशाें के बीच 110 अरब डॉलर (करीब 7 लाख करोड़ रुपए) की हथियारों की डील हुई। ट्रम्प ने किंग सलमान समेत सऊदी के अमीरों के साथ तलवार (सोर्ड) डांस भी किया।

- ट्रम्प ने अपनी स्पीच में कहा, "हमारी लड़ाई अलग-अलग आस्थाओं और सभ्यताओं के खिलाफ नहीं है। यह लड़ाई अच्छे और बुरे के बीच है। जब लोग मारे जा रहे हों, तो यह आस्था नहीं है। चाहे वो मुस्लिम हों या ईसाई, शिया हों या सुन्नी, वो ईश्वर के बच्चे हैं। उनकी मौत सभी का अपमान है। आतंकी खुदा को नहीं, बल्कि मौत को पूजते हैं।"

- "आतंकवाद के खिलाफ जंग वेस्ट और इस्लाम के बीच नहीं बल्कि भगवान और शैतान के बीच लड़ाई जैसी है।"

- रियाद में 50 अरब और मुस्लिम लीडर्स के साथ मीटिंग में ट्रम्प ने क्षेत्र में अमेरिका की नई भूमिका की बात कही।

- ट्रम्प ने ये भी कहा, "मैं यहां लेक्चर देने नहीं आया हूं। मैं यहां इसलिए भी नहीं आया कि लोग कैसे जिएं, उन्हें क्या करना चाहिए या वे कैसे पूजा करें। मैं यहां पार्टनरशिप करने आया हूं जिसमें सबके हित साझा हों और हमारा आगे का वक्त अच्छा हो।"

- "आतंकियों को आप अपने पूजास्थलों और अपनी कम्युनिटी से बाहर का रास्ता दिखा दीजिए।"