चीन ने ताइवान को दी युद्ध की धमकी!

नई दिल्ली ( 15 दिसंबर ): अमेरिका-ताइवान की बढ़ती नजदीकियों से चीन बौखला गया है। चीन अब ताइवान में बल प्रयोग की तैयारी में  है। चीन ने सार्वजनिक तौर पर ताइवान में बल प्रयोग करने की वकालत की है। दरअसल, अमेरिका-ताइवान की बढ़ती नजदीकी से चीन तिलमिलाया हुआ है।

बीते दिनों डोनल्ड ट्रंप और ताइवान के राष्ट्रपति की फोन पर हुई बातचीत को लेकर चीन नाराज है। चीन ने इसे ताइवान की छोटी चाल तक बता दिया था। वहीं, चीन के विदेशमंत्री ने इस बातचीत पर टिप्पणी करते हुए कहा था कि उन्हें उम्मीद है कि इस फोन कॉल के बाद चीन और अमेरिका के संबंध खराब नहीं होंगे।

चीन के सरकारी अखबार 'ग्लोबल टाइम्स' में छपे संपादकीय में कहा गया है, 'अब समय आ गया है जब चीन को अपनी ताइवान नीति को दोबारा तैयार करना चाहिए जिसमें बल प्रयोग प्रमुख विकल्प हो और सावधानीपूर्वक इसके लिए तैयार होना चाहिए।' ग्लोबल टाइम्स के इस संपादकीय को इसलिए भी नजरअंदाज नहीं किया जा सकता, क्योंकि इसका चीन की सरकार से सीधा संबंध है। विदेश नीति से जुड़े किसी भी मुद्दे पर टिप्पणी करने के लिए चीनी सरकार इसी का सहारा लेती है।

अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चार दशक पुराने 'वन चाइना पॉलिसी' को लेकर जबसे सवाल खड़े किए हैं, उसके बाद से ही चीनी मीडिया ने ट्रंप के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। असल में चीन ताइवान को अपना हिस्सा मानता है। यही कारण है कि अमेरिका और ताइवान के बीच 1979 से ही आधिकारिक कूटनीतिक संबंध नहीं हैं। 'वन चाइना पॉलिसी' के तहत अमेरिका भी ताइवान को संप्रभु देश नहीं मानता।