ट्रंप के सहयोगी ने ओबामा को दिया श्राप, मिशेल को बताया पुरुष


नई दिल्ली(25 दिसंबर): अमेरिका के नवनिर्वाचित राष्ट्रपति डॉनल्ड ट्रंप के सहयोगी बिजनसमैन कार्ल पालाडिनो ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के बारे में आपत्तिजनक बयान दिया है। शुक्रवार को एक अखबार से उन्होंने कहा कि पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा भयंकर बीमारी से मर जाएं और चारागाह में दफना दिए जाएं। उन्होंने फर्स्ट लेडी मिशेल ओबामा को भी नहीं बख्शा और उन्हें पुरुष करार दिया।


- कार्ल पालाडिनो रिपब्लिकन पार्टी से 2010 में गवर्नर का चुनाव लड़े थे लेकिन असफलता हाथ लगी थी। आर्टवॉइस के एक सर्वे में स्थानीय कलाकारों, परफॉर्मरों और बिजनसमैन से नए साल के लिए अपनी विश लिस्ट बताने के लिए कहा गया था जिसमें कार्ल ने यह इच्छा जाहिर की।


-कार्ल से जब पूछा गया कि नए साल 2017 में वह क्या होते देखना चाहते हैं तो उन्होंने जवाब में कहा कि मेरी दिली इच्छा है कि ओबामा गाय के साथ संबंध बनाते हुए पकड़े जाएं, उनकी 'मैड काऊ डिसीज' से मौत हो जाए और फिर उन्हें गाय के चारागाहों में ही दफना दिया जाए। जब उनसे पूछा गया कि वह किसे इस दुनिया से अलविदा लेते देखना चाहेंगे तो उन्होंने जवाब में मिशेल ओबामा का नाम लिया।


- कार्ल ने कहा कि मैं चाहता हूं कि मिशेल इस दुनिया में फिर से आदमी बनकर ही लौटें और जिम्बॉब्वे के किसी इलाके में गोरिल्ला के साथ किसी गुफा में आराम से रहें।


- एक ईमेल के जरिए अपने बयान में कार्ल ने दावा किया कि उनकी प्रतिक्रियाओं का नस्लीय भावना से कोई लेना-देना नहीं है बल्कि उन्होंने राष्ट्रपति ओबामा के कार्यकाल पर अपनी भावनाएं जाहिर की हैं। उन्होंने लिखा, मेरी क्रिसमस, दुर्भाग्य! अगर आपको मेरा जवाब पसंद नहीं आता है।


- हाल ही में कार्ल ने झूठा दावा किया था कि ओबामा क्रिस्चन नहीं हैं। न्यू यॉर्क ऑब्जर्वर से बातचीत में उन्होंने कहा था कि ज्यादातर अमरीकियों को इसमें कोई संदेह नहीं है कि ओबामा एक मुसलमान हैं।


- 2010 में कार्ल की खूब आलोचना हुई थी जब यह बात सामने आई कि उन्होंने अपने दोस्तों को ओबामा के खिलाफ नस्लीय भावना से प्रेरित ईमेल्स भेजे। उन्होंने ओबामा को दलाल संबोधित किया था।


- ट्रंप की एक प्रवक्ता ट्रंप टावर में कार्ल से मिली थीं लेकिन कोई बयान नहीं दिया था। डेमोक्रैट्स और सिविल राइट्स ग्रुप ने इस मुलाकात की निंदा की थी। डेमोक्रैट गवर्नर एंड्रू कूमो ने भी कार्ल को रेसिस्ट, भद्दा और कलंक बताया है।ो