ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने भारतीय मूल के अटॉर्नी को हटाया

नई दिल्ली(12 मार्च): अमेरिका में ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने इंडियन अमेरिकन एटॉर्नी प्रीत भरारा को बर्खास्त कर दिया है। भरारा यूएस के सबसे ज्यादा हाई-प्रोफाइल फेडरल प्रॉसिक्यूटर्स में से एक हैं।

- दरअसल, ट्रम्प एडमिनिस्ट्रेशन ने 46 एटॉर्नी से इस्तीफा मांगा है, लेकिन भरारा ने पद छोड़ने से इनकार कर दिया था। जिन एटॉर्नी से इस्तीफा मांगा गया है, उन्हें बराक ओबामा के टेन्योर में अप्वाइंट किया गया था।

- न्यूज एजेंसी के मुताबिक प्रीत भरारा को बीते शनिवार को पद से हटाया गया। जिसके बाद उन्होंने ट्वीट कर कहा, "मैंने रिजाइन नहीं किया है, मुझे बर्खास्त किया गया है। SDNY का यूएस अटॉर्नी होना मेरी प्रोफेशनल लाइफ का सबसे सम्मान रहेगा।"

- भरारा ने पिछले साल नवंबर में ट्रम्प की चुनावी जीत के बाद उनसे मुलाकात की थी। जिसके बाद भरारा ने कहा था कि वे पद पर बने रहना चाहते हैं।

- प्रीत भरारा SDNY (सदर्न डिस्ट्रिक्ट ऑफ न्यूयॉर्क) के एटॉर्नी थे। उनका अप्वाइंटमेंट ओबामा ने 2009 में किया था।

- प्रेसिडेंट डोनाल्ड ट्रम्प के चीफ स्ट्रैटजिस्ट अटॉर्नी जनरल जेफ सैशंस ने 46 अटॉर्नी से इस्तीफे इसलिए मांगे हैं ताकि नए सिरे से अप्वाइंटमेंट्स किए जा सकें।

- यूएस डिपार्टमेंट ऑफ जस्टिस की स्पोक्सपर्सन सारा इस्गर फ्लोर्स ने कहा, "अमेरिका में कुल मिलाकर 93 एटॉर्नी हैं। इनमें से कुछ पहले ही इस्तीफा दे चुके हैं। जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बिल क्लिंटन एडमिनिस्ट्रेशन ने भी अपने टेन्योर की शुरुआत में इसी तरह इस्तीफे मांगे थे।"

- भरारा को हटाए जाने के बाद न्यूयॉर्क के सीनेटर चार्ल्स शूमर ने ट्वीट कर कहा, "प्रीत भरारा एक बेहतरीन यूएस अटॉर्नी थे। वॉल स्ट्रीट, पब्लिक करप्शन और आतंकियों के खिलाफ जिस तरह वह लड़े, वह एक मिसाल है।"

- इससे पहले शूमर ने कहा था, "मैं अमेरिकी अटॉर्नी, खासतौर पर भरारा से इस्तीफा मांगे जाने की खबरों को सुनकर दुखी हूं।"