गंगा को मैली करने पर 7 साल की कैद और 100 करोड़ रुपये तक का जुर्माना!

नई दिल्ली (13 जून): अब अगर कोई व्यक्ति गंगा में गंदगी फैलाता हुआ पकड़ा गया तो उसको सात साल की कैद और 100 करोड़ रुपये तक का जुर्माना हो सकता है।  संघीय़ सरकार द्वारा गठित एक समिति ने राष्ट्रीय नदी गंगा (कायाकल्प, संरक्षण और प्रबंधन) विधेयक, 2017 का मसौदा तैयार किया है। अगर यह बिल पास होता है तो गंगा का प्रवाह रोकने, बगैर अनुमति किनारों पर खनन करने या निर्माण कार्य करने जैसे अपराध पर 7 साल की सज़ा और 100 करोड़ रुपये तक का जुर्माना हो सकता है।