हवाई सफर करने वालों के लिए बुरी खबर, महंगा होगा किराया

नई दिल्ली (26 सितंबर): अगर आप विमान में सफर करते हैं तो यह खबर आपको थोड़ा निराश कर सकती है। क्योंकि एयरलाइंस कंपनी ने जीएसटी लगने के बाद किराए को बढ़ाने की बात कही है। कंपनी का कहना है कि जीएसटी से उनकी कॉस्ट में बढ़ोतरी हुई है और इस वजह से किराया बढ़ाना पड़ सकता है।

एयरलाइंस कंपनियों ने सरकार से GST पर राहत देने की मांग की है। देश की तीन लिस्टेड एयरलाइंस- इंडिगो, जेट एयरवेज और स्पाइसजेट ने मार्च में समाप्त हुए फाइनैंशल इयर में संयुक्त रूप से 2,479 करोड़ रुपये का प्रॉफिट हासिल किया था। नॉन-लिस्टेड एयरलाइंस में गोएयर प्रॉफिट में चल रही अकेली एयरलाइन है। अन्य एयरलाइंस एयर इंडिया, विस्तारा और एयर एशिया इंडिया घाटे में हैं।

1 जुलाई से लागू हुए GST में सर्विस के बाद विमान के इंजन और पार्ट्स के दोबारा एक्सपोर्ट पर टैक्स लगाया गया है। इससे इंडस्ट्री पर सालाना करीब 2,000 करोड़ रुपये का बोझ पड़ेगा। अगर एयरलाइंस को GST को लेकर राहत नहीं मिलती तो किराए बढ़ सकते हैं। इससे पैसेंजर ग्रोथ कम होगी। वहीं एविएशन मिनिस्ट्री के सूत्रों ने बताया कि उन्हें एयरलाइंस की समस्या की जानकारी है और वे इसी सही मंच पर उठाने में उनकी मदद करेंगे।