डोकलाम पर झुका चीन, अब नहीं बनाएगा सड़क

बीजिंग (29 अगस्त): पिछले ढ़ाई महीने से डोकलाम में भारत और चीन के बीच जारी तनातनी खत्म हो गई है। भारतीय विदेश मंत्रालय ने कल ही साफ कर दिया था चीन और भारत ने डोकलाम से सेना हटाने का फैसला किया है। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रेस कॉन्फ्रेंस के तकरीबन एक घंटे बाद चालबाज चीन ने इस मसले पर गोलमोल जवाब दिया। चीन ने कहा कि भारत वहां से अपनी सेना हटा रहा है जबकि वो वहां गस्त करता रहेगा। उस वक्त चीन ने डोकलाम में सड़क बनाने के मसले पर कुछ भी नहीं कहा।

वहीं आज चीनी विदेश मंत्रालय ने कहा है कि फिलहाल वो डोकलाम में सड़क नहीं बनाने जा रहा है और अगर मौसम माकूल रहा तो फिर बाद में इसके बारे में सोचा जाएगा। हालांकि चीनी विदेश मंत्रालय ने आज एकबार फिर कहा कि उसकी सेना डोकलाम में अपनी गस्ती जारी रखेगा। चीनी विदेश मंत्रालय का कहना है कि भारत के सैनिक पीछे हटाने के बाद बने हालात के मुताबिक जरूरी बंदोबस्त और तैनाती की जाएगी। जानकारी के मुताबिक विवादित क्षेत्र से चीन ने अपनी सेना और बुलडोजरों को हटा लिया है।

विदेश मामलों के जानकरों ने चीन के इस कदम भारतीय कूटनीति की बड़ी सफलता बताया है। जून में इस संकट की शुरुआत ही डोकलाम में चीन द्वारा सड़क निर्माण की कोशिशों के चलते हुई थी। भारतीय सैनिकों ने तब चीनी सैनिकों को ऐसा करने से रोक दिया था। बीते दो महीनों में चीन ने अक्सर कहा कि डोकलाम उसका इलाका है और वह वहां सड़क बनाने को स्वतंत्र है। वहीं भारत इस विवादित क्षेत्र में यथास्थिति बनाए रखने की मांग कर रहा था।