चीन की धमकी के बावजूद सिक्किम में जोरों पर जश्न-ए-आजादी की तैयारी

गंगटोक, प्रशांत देव (14 अगस्त): सिक्किम से लगी सीमा पर भारत के साथ जारी तनातनी के बीच चीन लगातार दादागिरी दिखा रहा है। चीनी सरकारी मीडिया के जरिए भी धमकाया जा रहा है। इस बार भारत को चेताया गया है कि अगर वह ताजा सीमा विवाद मामले में पीछे नहीं हटेगा तो चीन 'सिक्किम में आजादी' का समर्थन करना शुरू कर देगा। ग्‍लोबल टाइम्‍स ने अपने एक संपादकीय में कहा है कि भारत से निपटने के लिए सिक्किम की आजादी का समर्थन एक 'पावरफुल कार्ड' होगा।

चीनी मिडिया के हवाले से आने वाली ऐसी खबरें गीदड़ भभकी के अलावा और कुछ नहीं क्योंकि जब न्यूज 24 की टीम भारत के आखिरी राज्य सिक्किम जो 1975 में भारत का राज्य बना वहां पहुंचा और चीन की सिक्किम पर पड़ने वाली नजर पर सवाल पूछा तो चीन को मुंह तोड़ जवाब मिला। सिक्किम के लोगों ने एक आवाज भारत की संप्रभुता पर सवाल खड़ने वाले चीन को खुली चुनौती दी।

चीन के साथ सीमा पर जारी विवाद के बीच यहां के लोगों में 15 अगस्त यानी स्वतंत्रता दिवस को लेकर खासा उत्साह देखा जा रहा है। यहां के तमाम लोग सरकारी दफ्तर हो या फिर वहां के व्यापारी, आम लोग या फिर सिक्किम के स्कूल हो 15 अगस्त के इस मौके पर बच्चों के मुंह से जो आवाजें बुलंद हो रही है।