यहां पोस्ट ग्रेजुएट बनने के लिए डाॅग्स देते हैं परीक्षा

नई दिल्ली ( 6 जनवरी ):  कुत्ते भी पोस्ट ग्रेजुएट  बनने के लिए परीक्षा देते हैं। जी हां ऐसा होता है। ये कुत्ते डॉग शो चैंपियनशिप में भाग लेकर एक से लेकर सात लेवल तक की परीक्षा देते हैं।

जो कुत्ते सातवें लेवल को सफलतापूर्वक पार कर जाते हैं, उन्हें पोस्ट ग्रेजुएट का सर्टिफिकेट मिलता है। परीक्षकों में विदेशी विशेषज्ञ भी शामिल रहते हैं।  

देश भर में साल भर डॉग शो चैंपियनशिप आयोजित होते हैं। इनमें भाग लेने वाले कुत्तों को विशेष ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के लेवल को सी 1 से लेकर सी 7 तक बांटा गया है। सी 1 इंट्री लेवल है। दिलचस्प यह भी कि देश भर में हर साल सबसे ज्यादा जमशेदपुर केनेल क्लब से जुड़े कुत्ते ही पोस्ट ग्रेजुएट बनते हैं।

क्लब के संयुक्त सचिव आरके सिन्हा का कहना कि देश भर में साल भर डॉग शो चैंपियनशिप आयोजित होते हैं। इनमें भाग लेने वाले कुत्तों को क्लबों द्वारा विशेष ट्रेनिंग दी जाती है। ट्रेनिंग के लेवल को सी 1 से लेकर सी 7 तक बांटा गया है। सी 1 इंट्री लेवल है।

चैंपियनशिप में प्रदर्शन के आधार पर सी-2 जूनियर, सी 3 सेकेंड्री, सी 4 हायर सेकेंड्री, सी 5 ग्रेजुएट और सी-6 को पोस्ट ग्रेजुएट का सर्टिफिकेट दिया जाता है। जो कुत्ते सी-7 तक पहुंचते हैं, उन्हें कंपेनियन डॉग कहा जाता है।

जमशेदपुर केनेल क्लब के सचिव विश्र्वनाथ रॉय ने बताया कि उनके क्लब के 22 श्वान पोस्ट ग्रेजुएट बन गए हैं। जो कुत्ते पोस्ट ग्रेजुएट कर लेते हैं उनकी नस्ल की मार्केट में काफी मांग रहती है।

व्यावसायिक तौर पर कुत्ते पालने वालों के लिए उक्त कुत्ते पैसा कमाने का जरिया बन जाते हैं। इनकी ब्रीड की मुंह मांगी कीमत लोग देने को तैयार रहते हैं।