मिलिट्री डॉग ने IS के हमले में ब्रिटिश सैनिकों की बचाई जान, जिहादियों के छुड़ाए छक्के

नई दिल्ली (10 मई): उत्तरी इराक में एक मिलिट्री डॉग तब एक हीरो की तरह लोगों के सामने आया। जब इसने ब्रिटेन की स्पेशल फोर्सेस की एक टीम को आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट (आईएस) के हमले से बचा लिया। आईएस के करीब 50 लड़ाकों ने इन जवानों पर घात लगाकर निशाना बनाया था।

'हफिंगटन पोस्ट' की रिपोर्ट के मुताबिक, ऐसा बताया जा रहा है कि एसएएस सैनिक पेशमर्गा फाइटर्स के लिए 10 दिन के ट्रेनिंग प्रोग्राम से लौट रहे थे। ये ब्रिटिश सैनिक चार गाड़ियों के एक काफिले से लौट रहे थे। इनके साथ में अमेरिकी सेना से प्रशिक्षित एक एलसैटियन भी था। 

पिछले महीने कुर्दिश सीमा पर अनजाने में जिहादियों के एक समूह के बुने जाल में फंस गए। इनके काफिले पर एक घरेलू बम से हमला करने के साथ ही आईएस के 50 लड़ाकों ने हमला बोल दिया।

जब ब्रिटिश फोर्सेस ने बाहर निकलने की कोशिश की। जिहादियों ने उनपर पीछे से हमला किया। इसी दौरान एक अमेरिकी सैनिक ने जो काफिले में इस डॉग के साथ था। उसने उसकी लगाम खोल दी।

गुस्साया डॉग आईएस लड़ाकों की तरफ दौड़ा। उसने पहले जिहादी की गर्दन और चेहरे को चब डाला। इसके बाद एक दूसरे लड़ाके के हाथ और पैरों पर काटा। डॉग के आतंक के सामने आतंकियों के डर से पसीने छूट गए। उससे डरकर आईएस के दो आतंकी भाग खड़े हुए। इस लड़ाई के बाद डॉग बिना किसी चोट के वापस लौटा। सैन्य टुकड़ियों ने उसकी हीरो के तौर पर प्रशंसा की। मीडिया में उसकी जमकर तारीफ की जा रही है।

*सांकेतिक तस्वीर