चमत्कार- चारा मशीन से कटे हाथ को डॉक्टरों ने फिर से जोड़ा !

नई दिल्ली (25 फरवरी): लखनऊ स्थित केजीएमयू के डॉक्टरों ने दस साल की बच्ची का कटा हाथ जोड़ कर चमत्कार कर दिया है। बच्ची का दाहिना हाथ चारा मशीन की चपेट में आकर कलाई के पास से कटकर अलग हो गया था। बच्ची के परिवारीजन दो घंटे के भीतर ट्रॉमा सेंटर पहुंचे, जहां प्लास्टिक सर्जन की एक टीम ने छह घंटे तक सर्जरी कर हाथ को जोड़ दिया। बच्ची अब पूरी तरह ठीक है। प्लास्टिक सर्जरी विभाग के प्रो. विजय ने बताया कि एक फरवरी को रायबरेली के गुरु बक्श सिंह इलाके में रहने वाली श्वेता चारा मशीन में चारा काट रही थी। इसी बीच उसका दाहिना हाथ चारा मशीन की चपेट में आ गया और कलाई के पास से कटकर अलग हो गया। श्वेता के परिवार के लोग तुरंत उसे लेकर ट्रॉमा सेंटर की ओर भागे।  

प्रो. विजय ने बताया कि पहले बच्ची के हाथ की हड्डी को जोड़ा गया। इसके लिए लिंब सेंटर से दो रेजीडेंट डॉक्टरों को बुलाया गया। उन्होंने एक विशेष तार से हड्डी को आपस में बांध दिया। इसके बाद सफैलिक वेन को जोड़ा गया, जिससे खून का बहना बंद हुआ। फिर रेडियल और मीडियन आर्टरी को जोड़ा गया, जिससे हाथ काम करने लगा। इसके बाद 24 दिन तक प्लास्टर बांधकर रखा गया। अब बच्ची ठीक है, लेकिन अभी उसे डॉक्टरों की निगरानी में रखा गया है।