खबरदार, 14 साल से कम उम्र के बच्चों के हाथ में न दें स्मार्ट फोन !

नई दिल्ली (4 अगस्त): भागती दौड़ती जिंदगी में स्मार्टफोन हमारी लाइफ का हिस्सा बन गया है। स्मार्टफोन की हमारी जरूरत हमारे बच्चों को भी खूब पसंद आने लगी है।

- हमारी नकल करते हुए बच्चे छोटी सी ही उम्र में स्मार्टफोन को अपना सच्चा साथी मानने लग जाते हैं यही वजह है कि वो असल दुनिया से दूर वर्चुअल दुनिया की ओर आकर्षित होते चले जा रहे हैं।

- ऐसी स्थिति में हममें से अधिकतर लोग समझते हैं कि हमारा बच्चा अगर सिर्फ 2 साल की उम्र में ही स्मार्टफोन, टीवी, लैपटॉप फ्रेंडली हो गया है तो वो बेहद तेज हो गया है। 

- अगर आप भी ऐसा ही सोचते हैं कि स्मार्टफोन के इस्तेमाल करने से आपका बच्चा तेज हो गया है तो आप ये बिलकुल गलत सोचते हैं।

- बल्कि ऐसा करते रहने से भविष्य में आपके बच्चे के स्वास्थ्य पर बुरा असर पड़ने लगता है।

- जी हां, कई स्टडीज में इस बात का खुलासा हो चुका है टीवी ज्यादा देखने वाले बच्चो में मोटापे की शिकायत रहती है।

- यही समस्या स्मार्टफोन इस्तेमाल करने वाले बच्चों के साथ भी होती है। वो आउटडोर गेम्स से दूर होते जाते हैं और वीडियो गेम उनके रूटीन का अहम हिस्सा बन जाता है।

- डॉक्टर्स और रिसर्चर्स का कहना है कि  बच्चों को स्मार्टफोन देने की सही उम्र 14 साल बताई गई है। इनकी माने तो 14 की उम्र तक होते-होते बच्चो में समझ आ जाती है।

- उन्हें अगर स्मार्टफोन से होने वाले नुकसान और फायदों के बारे में अच्छे से समझाया जाए तो वो इसे समझ सकते हैं साथ ही स्मार्टफोन का सतर्कता से इस्तेमाल भी कर सकते हैं।