इतिहास से छेड़छाड़ नहीं करेंगे बर्दाशत: राजपूत करणी सेना

नई दिल्ली (28 जनवरी): फिल्म 'पद्मावती' की शूटिंग के दौरान डायरेक्टर संजय लीला भंसाली के साथ मारपीट के बाद राजपूत करणी सेना ने कहा है कि इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इसी के साथ करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने पूरे विवाद को लेकर अपने संगठन का पक्ष रखा।

'किससे पूछकर शूटिंग की?'

करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र सिंह कालवी ने सवाल किया है कि संजय लीला भंसाली ने किससे पूछकर किले में शूटिंग की। उन्होंने पूछा कि क्या किले के मालिक, पुलिस और वन विभाग से मंजूरी ली गई थी। 

'इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाशत नहीं'

करणी सेना के संस्थापक लोकेंद्र कालवी ने पूरे विवाद में संगठन का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि इतिहास से छेड़छाड़ बर्दाश्त नहीं की जाएगी। इतिहास को बनाने के लिए पूर्वजों ने जान दी। क्या इसी चीज के लिए हमारे पूर्व मर मिटे? यह बर्दाश्त की सीमा से बाहर है। अगर इस तरह की चीजें बर्दाश्त करनी पड़े तो यह मेरे लिए डूब मरने वाली बात है।

'हमारे बच्चों पर फायरिंग की गई'

कालवी ने कहा कि करणी सेना संजय लीला भंसाली से बातचीत करना चाहती थी। उनके मुताबिक जब करणी सेना ने भंसाली से मिलने का प्रयास कर रही थी तभी वहां फायरिंग हुई। भंसाली के लोगों पर फायरिंग का आरोप लगाते हुए करणी सेना के नेता ने कहा कि क्या भंसाली को हमसे मिलने में इतना गुरेज था कि हवाई फायरिंग करनी पड़ी। उन्होंने कहा कि हमारे बच्चों पर 3 हवाई फायर हुए। हमने फायरिंग के सबूत पुलिस को दे दिया है। इससे पहले भी भंसाली से मुंबई में मिलने की कोशिश की थी, लेकिन भंसाली नहीं मिले।