रोहित के इस फैसले से दुखी थे कार्तिक, ऐसे माने

नई दिल्ली(19 मार्च): निदाहास ट्राॅफी के फाइनल मुकाबले में भारत बांग्लदेश को 4 विकेट से हराकर चैंपियन बन गया। मैच के हीरो दिनेश कार्तिक रहे। उन्होंने 8 गेंदों पर ताब़डतोड़ 29 रन की पारी खेली। मैच में एक पल ऐसा भी आया जब टीम इंडिया के लिए जीत असंभव लग रही थी। पारी के 18वें ओवर में विजय शंकर लगातार चार बार मुस्तिफिजुर की गेंद पर बीट हुए तो पूरा मैदान खामोश हो गया। जिन दर्शकों की जरा सी उम्मीद बाकी भी थी, वो भी मनीष पांडे के आउट होते खत्म होते दिखी। इस वक्त टीम इंडिया को आखिरी 2 ओवरों में 34 रनों की जरूरत थी।

इसके बाद मैदान में आए दिनेश कार्तिक। कप्तान रोहित शर्मा ने खुलासा किया कि कार्तिक दुखी थे क्योंकि उन्हें इंतजार करना पड़ा और विजय शंकर को उनसे ऊपर भेजा गया था। विजय शंकर ने पूरी सीरीज ने बल्लेबाजी नहीं की थी। विजय शंकर जब ऊपर भेजे गए तो कार्तिक को बुरा लगा। इसी वजह से रोहित शर्मा को डग आउट में बैठकर कार्तिक को समझाना पड़ा। रोहित शर्मा ने बताया, ‘जब मैं आउट हुआ तो मैं डगआउट में जाकर बैठ गया। वह (दिनेश कार्तिक) अपसेट थे क्योंकि उन्हें नंबर 6 पर बल्लेबाजी के लिए नहीं भेजा गया। हालांकि, मैंने उनसे कहा, ‘मैं चाहता हूं कि आप हमारे लिए आखिरी तक बल्लेबाजी करें और मैच फिनिश करें। इसकी वजह यह है कि जो कौशल आपके पास है, उसकी हमें आखिरी तीन या 4 ओवरों में जरूरत होगी।’ 

बहरहाल, कप्तान का यह फैसला बिलकुल सही साबित हुआ। दिनेश कार्तिक ने 8 गेंद पर 29 रनों ने पासा पलट दिया और भारत निदाहास ट्रॉफी का विजेता बना।