दुख है कि वाघेला ने राजपूत धर्म नहीं निभाया: दिग्विजय सिंह

नई दिल्ली(8 अगस्त): गुजरात में हो रहे तीन सीटों के लिए राज्यसभा चुनाव में वोट डालने के बाद पूर्व कांग्रेसी शंकरसिंह वाघेला ने साफ कर दिया कि उन्होंने अहमद पटेल को वोट नहीं दिया है। वाघेला के इस कदम के बाद दिग्विजय सिंह ने बयान दिया है। बता दें दिग्विजय ने मंगलवार सुबह वोटिंग से पहले ही ट्वीट कर वाघेला से पार्टी और भाईचारे की लाइन से आगे जाकर जाति (राजपूत) की लाइन पर अपील की थी। 

- दिग्विजय सिंह ने मंगलवार सुबह एक के बाद एक तीन ट्वीट किए। अपने ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने शंकरसिंह वाघेला से अहमद पटेल के लिए ही वोट करने की अपील की थी। 

- पहले ट्वीट में दिग्विजय ने लिखा कि वह वाघेला से एक व्यक्ति और भाई के तौर पर अपील करते हैं। इसमें दिग्विजय सिंह खजुराहो का कोई वाकया भी वाघेला को याद दिलाने की कोशिश करते दिख रहे हैं। 

- दिग्विजय सिंह जाति से राजपूत हैं। अहमद पटेल के लिए वोट की अपील करते समय दिग्विजय सिंह ने वाघेला को उनकी जाति (राजपूत) की भी याद दिलाई। दूसरे ट्वीट में दिग्विजय सिंह ने लिखा कि 'मत भूलिए कि कांग्रेस ने आपके लिए क्या किया है। आप एक राजपूत हैं। कृपया अहमद भाई की जीत सुनिश्चित करिए। वह हमारे दोस्त और सपॉर्टर रहे हैं।'

- दिग्विजय सिंह ने अंतिम क्षणों में शंकरसिंह वाघेला को मनाने के लिए कोई कसर बाकी नहीं छोड़ी। अंतिम ट्वीट में उन्होंने वाघेला को उनके ओल्ड चेले (पीएम मोदी) की भी याद दिला दी। दिग्विजय ने लिखा कि कांग्रेस के साथ आपके (वाघेला) जो भी मुद्दे हैं उन्हें पार्टी के भीतर सुलझा लेंगे। धोखा मत दीजिए और न ही अपने पुराने चेले को सपॉर्ट कीजिए जो पूरे देश को अपने हिसाब से हांके जा रहा है, पर वाघेला ने दिग्विजय की अपील नहीं सुनी। मंगलवार को वाघेला ने कहा कि उन्होंने पटेल को वोट नहीं दिया है, हालांकि उन्होंने यह भी नहीं बताया कि वोट किसको किया है।