जी-20' से पहले जलवायु परिवर्तन को लेकर अमेरिका-जर्मनी में मतभेद

नई दिल्ली (30 जून):जी-20 शिखर सम्मेलन से पहले जर्मन चांसलर एंजेला मर्केल ने अप्रत्यक्ष रूप से अमेरिका की संरक्षणवादी नीति के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा है कि जलवायु परिवर्तन, आतंकवाद और आप्रवासन के कारणों से होने वाले संघर्ष राष्ट्रीय सीमा पर नहीं रुकते हैं। उन्होंने आगे कहा, "पेरिस संधि अपरिवर्तनीय है, उस पर सौदेबाजी नहीं होगी।" जी-20 सम्मेलन जुलाई में होना है।जर्मन संसद में बोलते हुए चांसलर मैर्केल ने पेरिस जलवायु समझौते के बारे में कहा, "पेरिस संधि अपरिवर्तनीय है। उस पर सौदेबाजी नहीं होगी।" चांसलर ने अलग थलग होने और संरक्षणवाद के खिलाफ चेतावनी देते हुए कहा कि जलवायु परिवर्तन, अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद और आप्रवासन के कारणों से संघर्ष राष्ट्रीय सीमा पर नहीं रुकते हैं। उन्होंने कहा, "जो समझता है कि विश्व की समस्याएं अलग थलग होकर या संरक्षणवाद से सुलझायी जा सकती है, वह भारी भूल कर रहा है।"