NGT के फैसले के बाद नहीं चलेगी करीब दो लाख कारें

नई दिल्ली (17 जुलाई): नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (NGT) के आदेश के बाद राजधानी दिल्ली में 10 साल पुरानी डीजल कारें नहीं चलेंगी। NGT ने 10 साल पुरानी डीजल कारों पर रोक लगाते हुए परिवहन विभाग से तुरंत रजिस्ट्रेश रद करने के लिए कहा है। वहीं, डीजल ट्रकों के संचालन पर कोई रोक नहीं लगी है, लेकिन यह राहत कुछ समय के लिए ही मिली है।

एनजीटी ने अपने आदेश में आरटीओ को निर्देश दिया है कि ऐसे वाहनों की जानकारी ट्रैफिक पुलिस को दें और पुलिस कार्रवाई करे। दिल्ली ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट के अनुसार, राजधानी में 82 लाख डीजल वाहन रजिस्टर हैं, जिनमें से 6 लाख डीजल वाहन हैं।

दिल्ली ट्रांसपोर्ट डिपार्टमेंट ने बताया: दिल्ली में 82 लाख डीजल वाहन रजिस्टर हैं, जिनमें से 6 लाख डीजल वाहन हैं। इनमें 5,38,098 प्राइवेट डीजल वाहन और 86,546 कमर्सियल डीजल वाहन हैं। एनजीटी के इस फैसले के बाद 1,18,773 प्राइवेट वाहन और 34,659 कमर्सियल वाहन प्रभावित होंगे।