गुमनामी बाबा कोई और नहीं नेताजी सुभाष चंद्र बोस ही थे!

नई दिल्‍ली (16 मार्च): हिंदुस्तान की आजादी के महानायक नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मौत क्या विमान हादसे में नहीं हुई थी, क्या वो 1945 के बाद भी कई सालों तक जिंदा रहे। ये सवाल एक बार फिर उठा है। फैजाबाद के गुमनामी बाबा का सामान खोला गया, जिनके सामान से मिली वही रोलेक्स की महंगी घड़ी, हूबहू वही गोल चश्मा और नेताजी की फैमिली फोटो।

पिछले करीब 31 साल से गुमनामी बाबा का सामान सरकारी लॉकअप में पड़ा था। हिंदुस्तान के लोगों को इस लॉकर के खुलने का इंतजार पिछले कई सालों से था। लेकिन अब गुमनामी बाबा का सामान सार्वजनिक हो रहा है। घड़ी से लेकर चश्मा तक गुमनामी बाबा का अब जो सामान सामने आया है उसे देखकर कयास लगाए जा रहे हैं कि गुमनामी बाबा कोई और नहीं नेताजी सुभाष चंद्र बोस ही थे।

गुमनामी बाबा से जुड़ा जो सच अब तक सामने आया है। उससे गुमनामी बाबा और नेताजी सुभाष चंद्र बोस का रिश्ता गहराता जा रहा है। क्या गुमनामी बाबा और नेताजी सुभाष चन्द्र बोस के बीच कोई कनेक्शन था। नए सबूतों के सामने आने के बाद ये सवाल और जोर पकड़ने लगा है।

वीडियो:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=C8hpsjKvrwY[/embed]