कर्मचारियों को इन्सेंटिव में कार देने वाले हीरा कारोबारी का 20 गांवों को 'गिफ्ट

                                                                                                           प्रतीकात्मक तस्वीर 

नई दिल्ली ( 27 अप्रैल ): गुजरात के हीरा कारोबारी अपने कर्मचारियों को इन्सेंटिव के रूप में कारें देने को लेकर चर्चा में आए थे। इनका नाम सावजी ढोलकिया है। सावजी अब बेसब्री से मॉनसून का इंतजार कर रहे हैं कि ताकि बारिश शुरू होते ही वह पानी की किल्लत का सामने कर रहे 20 गावों के 80,000 लोगों की परेशानी खत्म कर सकें। इन गांवों में अमरेली जिले में उनका अपना गांव दुधाला भी शामिल है।


हरि कृष्णा डायमंड्स के मालिक सावजी ने अपने माता-पिता और गांववालों को पानी की किल्लत झेलते देखा है। हाल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी अपने सूरत दौरे में कहा था कि यहां हीरा कारोबारियों के मां-बाप भी बस अच्छी बारिश की प्रार्थना करते हैं, उनके लिए बस यही मायने रखता है, बच्चों की शिक्षा भी उनके लिए बड़ा विषय नहीं।


दूरदराज के इन गांवों में दिन-रात ट्रैक्टर चल रहे हैं, खुदाई हो रही है ताकि मॉनसून से पहले 200 बिघा जमीन पर 20 फुट गहरा तालाब तैयार किया जा सके।


सावजी ढोलकिया का कहना है, 'मैंने अपनी मां को एक मटका पानी भरने के लिए दूर-दूर तक जाते देखा है, मेरे पिता हर सीजन में अच्छी बारिश के लिए प्रार्थना करते थे। मैं 55 साल का हो गया हूं, लेकिन हालात में कोई खास बदलाव नहीं आया है। हमारी तरह गांवों के कई युवा रोजगार के लिए सूरत का रुख करते हैं, लेकिन अब और नहीं। पानी की किल्लत दूर करने का मेरा सपना जल्द पूरा होगा।'


इस मिशन को पूरा करने के लिए ढोलकिया पिछले ढाई महीनों से हर दिन करीब 2 लाख रुपये खर्च कर रहे हैं। इस खर्च में डीजल और मजदूरों की दिहाड़ी शामिल है।