ISI जासूस का सियासी कनेक्शन ?

गोविंद गुर्जर/कीर्ति राजेश चौरसिया, भोपाल (13 फरवरी): देश के दुश्मनों को जानकारी देते हुए जासूसी करने वाले 11 लोगों को मध्यप्रदेश एटीएस ने गिरफ्तार किया है। इस मामले में गिरफ्तार ध्रुव सक्सेना नाम के आरोपी को भी गिरफ्तार किया गया है, जिसके बीजेपी से संबंध बताए जा रहे हैं। हालांकि इस बारे में बीजेपी ने इससे साफ इनकार कर दिया है। न्यूज़ 24 उस घर पहुंचा जहां ध्रुव सक्सेना अपनी गर्लफ्रेंड के साथ रह रहा था।

महंगी गाड़ियों में घूमने का शौक, हाई-प्रोफाइल लोगों के साथ तस्वीरें खिंचवाने का जूनन, पार्टियां करना और खुद को बीजेपी का संयोजक बताना ये कहानी है ध्रुव सक्सेना नाम के शख्स की, जिसे मध्यप्रदेश एटीएस ने देश से गद्दारी करने के मामले में गिरफ्तार किया है। ध्रुव सक्सेना पर आरोप है कि वो पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के लिए काम कर रहा था और भारत की खुफिया जानकारी आईएसआई तक पहुंचा रहा था। कहा जा रहा है कि भोपाल की मिनाल रेज़ीडेंसी में वो पिछले एक साल से किसी मुस्लिम लड़की के साथ लिवइन में रह रहा था।

ऐसी खबरें भी आ रही है कि ध्रुव साल 2014 के बाद से लगातार बीजेपी में एक्टिव था। लेकिन बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष नन्द कुमार चौहान ने ISI के जासूस होने के आरोप में हिरासत में लिए गए ध्रुव सक्सेना के बीजेपी के साथ किसी भी तरह का रिश्ता होने से साफ इनकार कर दिया।

ध्रुव सक्सेना की पूरी हिस्ट्री जानने के लिए न्यूज़ छतरपुर पहुंचा, जहां ध्रुव सक्सेना की मां और पिता रहते हैं। ध्रुव सक्सेना की मां कवयित्री और पिता कलेक्टोरेट से रिटायर्ड हैं। ध्रुव सक्सेना की मां खुद कहती हैं कि वो बीजेपी में शामिल था। ध्रुव सक्सेना अभी मध्यप्रदेश एटीएस की कस्टडी में है। ध्रुव के साथ 10 और लोग देशद्रोह के जुर्म में हिरासत में हैं।