अब आइडिया विराट का और दिमाग धोनी लगाएंगे...

नई दिल्ली (12 जनवरी): आपने मैच के दौरान कई बार विकेट के पीछे से धोनी की इस तरह की आवाज तो सुनी ही होगी। कप्तानी करते हुए धोनी अक्सर विकेट के पीछे से अपने गेंदबाजों को कुछ इस तरह इन्स्ट्रक्शन्ज देते रहे हैं। कभी-कभार तो फनी कमेंट करके भी धोनी अपने गेंदबाजों को बल्लेबाजों की खामियां बताते देखे गए हैं। यानि कि मैदान पर विकेटकीपर होने की वजह से धोनी किसी भी बल्लेबाज के सबसे पास होते हैं। कप्तानी के दौरान धोनी को इस बात का काफी फायदा भी मिला है।

नए कप्तान विराट कोहली ना तो कीपिंग करते हैं और ना ही स्लिप में खड़े होते हैं। ऐसे में अश्विन जैसे गेंदबाज का मानना है कि जब वो धोनी की कप्तानी में खेलते थे। तब उनके बॉलिंग मार्क और विकेट के पीछे धोनी से वो बातचीत करते थे, लेकिन अब विराट शॉर्ट मिड विकेट या शॉर्ट कवर में खड़ें होंगे और वही से बातचीत होगी। ऐसे में गेंदबाजों से दूरी होने की वजह से धोनी कप्तान विराट और गेंदबाजों के बीच बातचीत का अभी भी जरिया होंगे।

साफ है विराट के कहने पर धोनी गेंदबाजों को कम्यूनिकेट करने का काम करेंगे। वैसे भी विकेट के पीछे धोनी किसी भी बल्लेबाज की कमजोरियों को सबसे पहले भांप लेते हैं। ऐसे में धोनी विराट की कप्तानी के दौरान एक छिपे हुए कप्तान की तरह मैदान पर रणनीति तैयार कर सकते हैं। इतना ही नहीं दुनिया के नंबर 1 गेंदबाज आर अश्विन का ये भी मानना है कि मैदान पर अब गेम प्लान थोड़ा अलग नजर आएगा। धोनी बीच के ओवरों में जहां रन रोकने के लिए स्पिनर्स का इस्तेमाल करते थे। विराट कोहली बीच के ओवरों में भी रन रोकने की बजाय विकेट के लिए जाना पसंद करते हैं। विराट को विकेट के लिए थोड़े रन खर्च करने में कोई गुरेज नहीं होता है।

साफ है कि नए कप्तान विराट के साथ पुराने कप्तान धोनी और बाकी खिलाड़ी अभी से गेम प्लान बनाने में जुट गए हैं। विराट के साथ धोनी का टीम में होना एक तरह से सामने वाली टीम के लिए डबल अटैक जैसा होगा, क्योंकि आइडिया विराट का होगा और दिमाग धोनी लगाएंगे।