इस नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं कप्‍तान धोनी

नई दिल्‍ली (11 जनवरी): कप्तान महेंद्र सिंह धोनी एक तरह से नोटिस पीरियड पर चल रहे हैं, क्योंकि बीसीसीआई ने पहले ही साफ कर दिया है कि अप्रैल तक वह कप्तान बने रहेंगे। लेकिन इसके बाद धोनी कप्तान होंगे या नहीं ये किसी को नहीं पता। अगर टी 20 वर्ल्ड कप से पहले धोनी ऑस्ट्रेलिया में वनडे सीरीज अपने नाम कर लेते हैं तो फिर उनकी कप्तानी को नई लाइफ लाइन मिल जाएगी।

नई लाइफ लाइन के लिए धोनी को याद आ रहे हैं क्रिकेट के भगवान सचिन तेंदुलकर। याद कीजिये 2008 का ये सीबी सीरीज जब पहली बार टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में कोई वनडे सीरीज अपने नाम की थी। धोनी पहली बार ऑस्ट्रेलिया में कप्तानी कर रहे थे और अपनी पहली ही कप्तानी में धोनी ने इतिहास रच दिया था। इसके पीछे सबसे बड़ा हाथ था सचिन का।

दरअसल सीरीज शुरु होने से पहले धोनी ने ये कहकर सीनियर्स खिलाड़ियों पर निशाना साधा था कि सीनियर खिलाड़ियों को अपनी जिम्मेदारी पता होना चाहिए। धोनी के इस बयान को सचिन ने दिल पर ले लिया। सचिन 2008 की उस टीम के सबसे सीनियर खिलाड़ी थे, क्योंकि बदलाव के तहत 2008 में युवा चेहरों को सीरीज में मौका दिया गया था। धोनी के बयान से आहत सचिन ने इसका जवाब अपने बल्ले से दिया था।

सीबी सीरीज के पहले फाइनल में सचिन ने 117 रनों की पारी खेल कर टीम इंडिया को 6 विकेट से जीत दिलाई और उन्‍हें मैन ऑफ द मैच चुने गए। सचिन ने दूसरे फाइनल में 91 रनों की पारी खेली और टीम इंडिया को 9 रनों से रोमांचक जीत दिलाई। पहले दो फाइनल जीतने के बाद टीम इंडिया ने सीबी सीरीज पर कब्जा जमा लिया।

अब सवाल ये है कि धोनी के लिए सचिन के रोल में कौन नजर आएंगे। अगर मौजूदा टीम को देखें तो धोनी के बाद सिर्फ रोहित शर्मा ही एक ऐसे खिलाड़ी हैं जो 2008 की उस टीम का भी हिस्सा थे। रोहित ने 2008 के सीबी सीरीज के सभी 10 मैच खेले थे और 33 की औसत से 235 रन भी बनाए थे। वैसे रोहित के आलावा अगर धोनी को सचिन वाले प्रदर्शन की किसी से उम्मीद होगी तो वो हैं विराट कोहली। विराट कोहली ने पिछले दौरे पर शानदार प्रदर्शन किया था और टेस्ट सीरीज में उन्‍होंने लगातार एक के बाद एक चार शतक जमाए थे। वनडे में अगर विराट का ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ प्रदर्शन देखे तो उन्‍होंने 18 मैच की 16 पारियों से 621 रन बनाए हैं।