मैदान पर विराट की कप्तानी में नजर आया धोनी का जलवा...

नई दिल्ली (15 जनवरी): टीम के कप्तान भले ही विराट कोहली हैं, लेकिन टीम में बॉस अभी भी महेंद्र सिंह धोनी हैं। क्योंकि धोनी अभी भी मैदान पर किसी से पूछते नहीं हैं बल्कि बताते हैं। कप्तान विराट के लिए टीम में धोनी का होना किसी वरदान से कम नहीं है।

इंग्लैंड के कप्तान इयान मोर्गन का कैच लेने के बाद धोनी ने सिग्नेचर स्टाइल में विकेट का जश्न मनाया, लेकिन अंपायर ने मोर्गन को आउट नहीं दिया। जिसके बाद धोनी ने सीधे डीआरएस लेने का फैसला किया। धोनी ने ना तो कप्तान विराट से और ना ही गेंदबाज से और ना ही किसी फिल्डर्स से कोई राय ली।

धोनी का पता था कि मोर्गन के बल्ले से गेंद लगने के बाद उनके पास पहुंची है। धोनी ने डीआरएल ले लिया, जिसके बाद कप्तान विराट ने धोनी से पूछा कि क्या वाकई मोगर्न आउट हैं। धोनी ने मानो अपने स्टाइल में विराट को ये बता दिया कि वो एक बार फैसला ले लिया तो उस पर सवाल उठ ही नहीं सकते।

थर्ड अंपायर ने भी धोनी के फैसले पर अपनी मुहर लगा दी। मैदान पर धोनी के इस कॉन्फिडेंश से हर कोई हक्का बक्का था, क्योंकि धोनी हमेशा से डीआरएस के खिलाफ रहे हैं। धोनी को हमेशा ये लगता था कि डीआरएस में तकनीकी खामियां है। इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट सीरीज के बाद वनडे में भी अब डीआरएस का इस्तेमाल हो रहा है।

धोनी का 8 साल बाद डीआरएस से सामना हो रहा है। डीआरएस पर धोनी जिस तरह से आज विकेट के पीछे से फैसले लिये वो वाकई ये दिखाता है कि धोनी जो भी फैसला लेता है वो ठीक ही होता है। इतना ही नहीं मैदान पर आज मैच के दौरान कैमरे का फोकस भी नए कप्तान विराट पर नहीं बल्कि विकेट के पीछ धोनी पर ही नजर आया। मानो कैमरे से धोनी के दिमाग को पढ़ने की कोशिश की जा रही थी। इसके आलावा मैदान पर जब इंग्लैंड के बल्लेबाज रन बना रहे थे तो विराट की बजाय धोनी ज्यादा मैदान पर अपनी नजरें ज्यादा दौड़ाते नजर आ रहे थे।