WATCH : महिलाओं ने बदल दी गांव की तकदीर, कोई नहीं रहा बेरोज़गार

नई दिल्ली (6 जुलाई): गुजरात के सबरकांता जिले में स्थित एक गांव ने देश के अन्य तमाम गांवों के लिए एक अनोखी मिसाल पेश की है। इस गांव की महिलाओं ने तरक्की के लिए खुद ही कमान अपने हाथों में ले रखी है। इस तरह गांव तेजी से आगे बढ़ रहा है।

इस गांव का नाम है-धर्माली। गांव में करीब 2,000 लोग रहते हैं। लेकिन गांव में कोई भी हाथ ऐसा नहीं है, जिसमें काम नहीं हो। इस गांव में 100 फीसदी रोजगार है।

इस गांव की महिलाओं ने फिनाइल, वाशिंग पाउडर, चिली पाउडर और हल्दी पाउडर बनाना सीख लिया है। और अब वे इसे बेच रही हैं। इस तरह वे खुद को पूरी तरह से पर्याप्त तौर पर सक्षम बना रही हैं। इसके अलावा, इनके पास एक इंटरनेट सेंटर भी है। ये महिलाएं कम्प्यूटर चलाना भी जानती हैं। इसके अलावा केवल घर बैठे 4,000 रुपए कमा लेती हैं।

इस गांव की खासियत है कि यहां अच्छी पढ़ाई की सुविधाओं के साथ शौच और साफ पानी की भी सुविधा है। महिलाओं की स्वतंत्रता और आत्मनिर्भर होने के इस अनोखे मॉडल के चलते राज्य सरकार ने इन्हें 'स्किल्ड गांव' का अवार्ड भी दिया है। इस गांव की अनोखी कहानी दूरदर्शन ने दिखाई है, आप भी देखिए:

[embed]https://www.youtube.com/watch?v=M-iY7VgDaUQ[/embed]