भारत में छिपा है ढाका हमले का मास्टरमाइंड!

नई दिल्ली(15 जुलाई): एक जुलाई को बांग्लादेश की राजधानी ढाका के गुलशन कैफे में हुए भीषण आतंकी हमले का मुख्य साजिशकर्ता 7 महीने पहले ही पश्चिम बंगाल में घुस आया है। यह दावा ढाका ट्रिब्यून ने हाल ही किया। इस खुलासे के बाद बांग्लादेश की पीएम शेख हसीना के महत्वपूर्ण सहयोगी ने गुरुवार को इस बात के संकेत दिए कि उनकी सरकार भारत के साथ गायब हुए युवाओं को लेकर एक डोजियर साझा करना चाहती है।

एक अंग्रेजी वेबसाइट में छपी खबर के मुताबिक बांग्लादेश का कहना है कि इसके जरिए वह सीमा पार आतंकवाद के खिलाफ साझा लड़ाई लडऩा चाहती है। हसीना के वरिष्ठ विदेश सलाहकार गवहार रिजवी ने यह बयान दिया है। गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में जांचकर्ता जमात-उल मुजाहिदीन के मुख्य ऑपरेटिव मोहम्मद सुलेमान की तलाश में जुटे हुए हैं।

सुलेमान का नाम आईएस ऑपरेटिव अबू अल मूसा अल बंगाली उर्फ मूसा से पूछताछ में सामने आया है, जिसे राज्य की सीआईडी ने 10 दिन पहले बर्दवान से गिरफ्तार किया था। आपको बता दें कि बीते दो सालों से सुलेमान ही मूसा का हैंडलर था। रिजवी ने एक कॉन्फ्रेंस में कहा कि बांग्लादेश गायब हुए युवाओं को लेकर एक डोजियर तैयार कर रहा है, इनके बारे में भारत को जानकारी दी जाएगी ताकि इन्हें ढूंढने में मदद मिल सके।

100 से ज्यादा युवा है राजधानी से लापता

एक जुलाई को हुए ढाका हमले में शामिल तीन आतंकवादी समृद्ध परिवारों से थे और बीते करीब 4 से छह माह से लापता थे। हमले के बाद की गई जांच में खुलासा हुआ है कि करीब 20 साल की उम्र के 100 से ज्यादा युवा बांग्लादेश की राजधानी से लापता हैं। ढाका ट्रिब्यून की रिपोर्ट में तो यह भी दावा किया गया है कि 20 से ज्यादा लोगों को मौत के घाट उतारने वाले आतंकी हमले का मास्टरमाइंड भारत में घुस गया है और पश्चिम बंगाल में ही कहीं छुपा हुआ है।

भारत में घुसा है ढाका हमले का मास्टरमाइंड

रिपोर्ट के अनुसार - मामले के जांचकर्ताओं के मुताबिक उन्होंने हमले के मास्टरमाइंड की पहचान कर ली है। यह व्यक्ति हमले के 7 महीने पहले ही बांग्लादेश से फरार होकर भारत में घुस आया है और पश्चिम बंगाल के ही किसी इलाके में छिपा हुआ है। इस आतंकी ने ही हमले की पूरी साजिश रची थी। खुफिया रिपोर्ट्स के अनुसार सुलेमान के गायब रहने के दौरान ही भारत और बांग्लादेश की सीमा पर स्थित मालदा जिले में मूसा ने उससे मुलाकात की थी। वर्ष 2014 से 2015 के दौरान इन दोनों ने छह बाद मुलाकात की है।