कानून-व्यवस्था लेकर यूपी DGP ने पुलिस अधिकरियों को दिए कड़े निर्देश

अशोक कुमार तिवारी, लखनऊ (1 जून): उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था को पटरी पर लाना अब भी योगी सरकार के लिए चुनौती बनी हुई है। मुख्यमंत्री योगी जहां राज्य में जल्द कानून व्यवस्था राज कायम करने की बात कर रहे हैं। लेकिन अपराधियों पर इसका असर पड़ता नहीं दिख रहा है। वहीं अपराध के बढ़ते ग्राफ को लेकर लगातार यूपी पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

इन सबके बीच राज्य के पुलिस महानिदेशक यानी DGP सुलखान सिंह ने अपने सभी पुलिस अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था बेदह चुस्त दुरुस्त बनाने का निर्देश दिया है। सुलखान सिंह ने राज्य के सभी वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, पुलिस अधीक्षक, परिक्षेत्रीय पुलिस महानिरीक्षक, जोनल अपर पुलिस महानिदेशक, पुलिस महानिरीक्षकों को सुदृढ़ पुलिसिंग के द्वारा प्रदेश में आम नागरिकों के मध्य सुरक्षा की भावना पैदा किये जाने एवं असामाजिक और अपराधिक तत्वों के विरूद्ध कठोर कार्यवाही करने के कड़े निर्देश दिए हैं।

पुलिस महानिदेशक के निर्देश की बड़ी बातें...

- समस्त जनपदों के शहरी क्षेत्रों एवं कस्बों में सायंकालीन फुट पेट्रोलिंग अभियान चलाया जायेगा

- थानों व चैकियों के समस्त पुलिस बल  द्वारा  अपने क्षेत्र के भीड़भाड़ वाले स्थानों जैसे बाजार, माल, सर्राफा बाजार, बैंक, बस स्टैण्ड, टेम्पो स्टैण्ड, रेलवे स्टेशन, पार्क, सिनेमा हाल इत्यादि पर पैदल गश्त किया जाये

- गश्त के दौरान पिकेट ड्यिूटी का फोर्स भी अपने अपने क्षेत्र में मोबाइल रहेगा

- गश्त के दौरान जनता से सम्पर्क कर उनमें सुरक्षा की भावना पैदा की जाये तथा जनता में पुलिस को सूचना देने हेतु विश्वास जागृत किया जाये

- अनधिकृत पार्किंग तथा अवैध कब्जे के विरूद्ध भी प्रभावी कार्यवाही की जाये ।

- गश्त के दौरान संदिग्ध व्यक्तियों (मनचले व शोहदों, पान की दुकानों के पास खड़े तथा संदिग्ध गाड़ियों के बैठे व्यक्तियों आदि) की चेकिंग की जाये

- समस्त जनपदों में संबंधित वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक/अपर पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी/थानाध्यक्ष द्वारा अपने कार्य क्षेत्र में प्रतिदिन सायं 60 मिनट भीड़ भाड़ वाले क्षेत्रों में फुट पेट्रोलिंग की जायेगी

- समस्त राजपत्रित अधिकारीगण, समस्त थाना प्रभारी, समस्त चैकी प्रभारी, होमगार्ड एवं पीएसी बल भी भाग लेंगे

- इस अभियान में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक/पुलिस अधीक्षक अपने स्तर से समय एवं स्थान बदल-बदल कर फुट पेट्रोलिगं करना सुनिश्चित करेंगे

- समस्त अधिकारीगण द्वारा जनता से नियमित रूप से संवाद करते हुए उनकी समस्याओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए उनका निवारण करने का प्रयास किया जाये

- जनसंवाद के दौरान अधिकारीगण क्षेत्र के संभ्रान्त व्यक्तियों से मोबाइल नम्बर का आदान प्रदान करेंगे एवं थाने व कार्यालयों में इसका एक प्रथक रिकार्ड रखेंगे