यहां दफनाया जाएगा लश्कर आतंकी नावीद जट

                                                                                                             Image Source: Google

न्यूज 24 ब्यूरो, नई दिल्ली (28 नवंबर): कश्मीर में भारतीय सेना का ऑपरेशन ऑल आउट लगातार अपने चरम पर दिखाई दे रहा है। राज्य की स्थानीय पुलिस के साथ मिलकर सेना एक के बाद एक आतंकियों को ठिकाने लगाने में लगी हुई है। इसी कड़ी में बुधवार की सुबह सेना ने लश्कर के कमांडर आतंकी नावीद जट्ट को समेत 2 आतंकियों को ढेर कर दिया।मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस ऑपरेशन के बाद सीआरपीएफ डीजी आर आर भटनागर ने कहा कि यह हमारी एक बड़ी कामयाबी है। उन्होंने बताया, 'आतंकी जट्ट फरवरी में अस्पताल से फरार हो गया था। सुबह कुलगाम में एक एनकाउंटर के दौरान उसे मौत के घाट उतार दिया गया। अच्छे तालमेल के साथ सुरक्षा बलों ने इस महीने कुल 37 आतंकवादियों को ढेर किया है। सभी एजेंसियों के साथ बेहतर तालमेल के साथ इस समय ऑपरेशन किए जा रहे हैं।उन्होंने कहा, 'सुरक्षाबलों ने पंचायत इलेक्शन भी शांतिपूर्वक कराया है। इस साल करीब 241 आतंकवादियों को सुरक्षाबलों ने ढेर किया है। लगातार सुरक्षा बलों को सफलता मिल रही है। आगे भी सुरक्षा बलों को सफलता मिलती रहेगी। बॉर्डर की तरफ से घुसपैठ कराने की कोशिश की जा रही है पर उस पर हमारी एजेंसियां नजर रखे हुए हैं।मीडिया रिपोर्ट्स के हवाले से आ रही खबरों के मुताबिक डीजी ने कहा कि आने वाले दिनों में जो दूसरे मॉड्यूल हैं उनके कमांडर्स पर भी सुरक्षाबलों की नजर है। हाल के दिनों में अलग-अलग आतंकी मॉड्यूल के कमांडरों को सुरक्षाबलों ने ढेर किया है। भटनागर ने यह भी कहा कि जब सुरक्षा बल इस इलाके में सर्च ऑपरेशन कर रहे थे तो उस दौरान सुरक्षाबलों के ऊपर स्थानीय नागरिकों ने पत्थरबाजी भी की जिसमें सीआरपीएफ के 2 जवान घायल हो गए। इसमें एक जवान गंभीर रूप से घायल है जिसे सीआरपीएफ के अस्पताल में भर्ती कराया गया है।पाक एजेंसी आईएसआई चाहती है कि इस सर्दियों में आतंकवादी सुरक्षा बलों को बड़े स्तर पर निशाना बनाएं, इसके लिए वह लगातार अंसार गजवत उल हिंद के कमांडर जाकिर मूसा और हिजबुल मुजाहिदीन के कमांडर को निर्देश दे रहा है। नावीद जट्ट को कश्मीर में जहां विदेशी आतंकी दफनाए जाते हैं वहां पर दफनाया जाएगा।