गुरू पूर्णिमा पर सांई पूजा के लिए जुट रहे हैं लाखों श्रद्धालु

नई दिल्ली (18 जुलाई): गुरुपूर्णिमा पर साईं बाबा के दर्शन पूजन के लिए लाखों लोग शिर्डी पहुंच रहे हैं। सांई बाबा के भक्त दुनियाभर से हर साल यहां आते हैं। उनके फकीर स्वभाव और चमत्कारों की कई कथाएं है।

- बाबा के भक्त उनके चित्र और मूर्तियों को अपने घरों में रखते हैं। साईं बाबा की कुछ फोटो तकरीबन 100 साल पुरानी हैं। 

- साईं ने अपना पूरा जीवन जनसेवा में ही व्यतीत किया। वे हर पल दूसरों के दुख दर्द दूर करते रहे।

- खुद शक्ति सम्पन्न होते हुए भी उन्होंने कभी अपने लिए शक्ति का उपयोग नहीं किया। 

- साईं बाबा शिर्डी में एक सामान्य इंसान की भांति रहते थे। - साईं ने दुनिया छोड़ने का संकेत पहले ही दे दिया था, उनका कहना था कि दशहरा का दिन धरती से विदा होने का सबसे अच्छा दिन है। 

- शिर्डी में बाबा के जीवन काल में मुसलमान उन्हें यवन फकीर मानते थे और हिंदू उनकी पूजा भगवान की तरह ही किया करते थे।