जैसलमेर: एक रात में गायब हो गए थे 84 गांव, अब होगा यहां विकास

जैसलमेर (5 मार्च): 191 सालों से वीरान पड़ा राजस्थान के जैसलमेर जिले में आने वाला कुलधारा गांव की छवि अब बदलने वाली है। पर्यटन विभाग इस गांव के कायाकल्प को बदलने का काम करने जा रहा है। 

पुरातत्व विभाग के अधीक्षक बाबूलाल मौर्य के अनुसार कुलधारा गांव के प्रवेश द्वार से अंदर तक सड़क बनाने के साथ-साथ गांव के चारों तरफ दीवार बनवाने सहित अन्य विकास कार्यों में तीन करोड़ रूपये से अधिक राशि खर्च की जायेगी।

माना जाता है कि जैसलमेर के अधिकतर गांवों में पालीवाल ब्राह्मण जाति के बेहद संपन्न लोग रहते थे। लेकिन किसी विवाद को लेकर एक ही रात में जैसलमेर के 84 गांव खाली हो गए थे जिसमें से एक कुलधारा गांव भी था। कुलधारा को 13वीं शताब्दी के स्मारक के रूप में संरक्षित करने की घोषणा की गई थी।