पति ने छीन लिए अमेरिकी पासपोर्ट, 2 बच्चों के साथ दर-दर भटक रही है NRI महिला

हैदराबाद (11 जून) :  अमेरिका में एक भारतीय महिला का अच्छा जॉब, बच्चों की अच्छे स्कूल में पढ़ाई। लेकिन उसका पति ये कह कह उसे ये बहाना कर भारत में हैदराबाद ले आया कि उसकी मां का स्वास्थ्य खराब है। फिर उसने पत्नी और दोनों बच्चों के अमेरिकी पासपोर्ट छीन लिए कि वो कहीं वापस अमेरिका ना चले जाएं। अब इस महिला को अपने दोनों बच्चों के साथ हैदराबाद के एक ओल्ड एज होम में रहने को मजबूर होना पड़ रहा है। बीते 10 महीने से दर-दर भटकने के बाद भी इस महिला को राहत नहीं मिल पा रही है।

'द न्यू इंडियन एक्सप्रेस' की रिपोर्ट के मुताबिक ये कहानी है 39 वर्षीय मारेला लक्ष्मी प्रसन्ना की। लक्ष्मी की एक बेटी हेमंती (13 वर्ष) और एक बेटा साईनाथ (7 वर्ष) हैं। एक साल पहले तक लक्ष्मी और उनके दोनों बच्चे अमेरिका में अच्छी खासी ज़िंदगी जी रहे थे। दोनों बच्चे ह्यूस्टन के स्कूल में पढ़ाई कर रहे थे और लक्ष्मी के पास एक स्कूल डिस्ट्रिक्ट के फूड सर्विस डिपार्टमेंट में अच्छा जॉब था। ये परिवार 16 साल से अमेरिका में ही बसा हुआ था।

(फोटो साभार : न्यू इंडियन एक्सप्रेस)

बीते साल जून में ये परिवार भारत आया। उनका यही प्रोग्राम था कि एक महीना भारत में बिताकर अमेरिका लौट जाएंगे। लेकिन लक्ष्मी का पति बाबू प्रसाद भारत में ही बसने की जिद करने लगा। लक्ष्मी और बच्चे कहीं वापस ना चले जाएं, इसलिए उसने तीनों के पासपोर्ट भी अपने पास रख लिए। लक्ष्मी ने पुलिस में शिकायत की तो बाबू प्रसाद ने अग्रिम ज़मानत ले ली। साथ ही उसने पुलिस को लिखकर दे दिया कि पासपोर्ट खो गए हैं। नए पासपोर्ट की अर्ज़ी दी गई तो 15 दिन में नए पासपोर्ट मिल भी गए। बाबू प्रसाद ने वो पासपोर्ट भी धोखे से अपने पास रख लिए। साथ ही पत्नी और बच्चों को घर में नज़रबंद कर दिया। लक्ष्मी ने विरोध किया तो बाबू प्रसाद ने बच्चों समेत घर से निकाल दिया। ऐसे में लक्ष्मी को ओल्ड एज होम में सहारा लेना पड़ा।

लक्ष्मी बस यही चाहती है कि उसे पासपोर्ट मिल जाएं जिससे कि वो अमेरिका वापस जा सकें और बच्चों का अच्छी पढ़ाई से करियर संवार सके। लक्ष्मी के मुताबिक भारत में उसका कोई रिश्तेदार भी नहीं है जो उनकी लड़ाई लड़ सके। लक्ष्मी राज्य मानवाधिकार आयोग और बाल अधिकार संरक्षण राज्य आयोग तक से गुहार लगा चुकी है लेकिन अभी तक उनसे इनसाफ नहीं मिला है।