जानिए, राम रहीम के बाद किसके हाथों में होगी डेरा की डोर

विशाल एंग्रीस, चंडीगढ(28 अगस्त): 2002 रेप केस में सीबीआई की विशेष अदालत द्धारा दोषी करार दिए गए डेरा प्रमुख बाबा राम रहीम की सजा ऐलान सोमवार को होगा। ऐसे में अब सबसे बड़ा सवाल उठता है जब राम रहीम सलाखों के पीछे पहुंच जाएंगे तो डेरा प्रमुख की कुर्सी पर कौन बैठेगा। 

- डेरा सच्चा सौदा की स्थापना 1948 में शाह मस्ताना महाराज ने की थी। शाह मस्ताना महाराज के बाद डेरा की गद्दी शाह सतनाम महाराज ने संभाली। उन्होंने साल 1990 में अपने अनुयायी संत गुरमीत सिंह को गद्दी सौंप दी। इसके बाद संत गुरमीत राम का नाम संत गुरमीत राम रहीम सिंह इंसा कर दिया गया। सिरसा में डेरा की करीब 700 एकड़ जमीन है। इसके अलावा तीन अस्पताल, एक इंटरनेशनल आई बैंक, गैस स्टेशन और मार्केट कॉम्प्लेक्स के अलावा दुनिया में करीब 250 आश्रम हैं। वैसे राम रहीम के परिवार पर नजर डालें तो उनके एक बेटे जसमीत सिंह, दो बेटियां चरणप्रीत और अमनप्रीत हैं। एक गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत भी है। 

- मुखिया का बेटा होने के नाते डेरा के उत्‍तराधिकारी बनने का सबसे पहला मौका जसमीत को मिल सकता है। बताते हैं कि गुरमीत ने 2007 में जसमीत इंसा को अपना उत्तराधिकारी बनाने की घोषणा की थी जब सीबीआई ने गुरमीत के खिलाफ चार्जशीट दाखिल की थी। लेकिन ऐसा होना इतना आसान नहीं है। इसके पीछे सबसे बड़ी वजह है डेरा का एक नियम। नियम के मुताबिक डेरा का अगला प्रमुख मौजूदा प्रमुख के परिवार या खानदान से नहीं हो सकता है। ऐसे में जसमीत के डेरा प्रमुख बनने में यह नियम रोड़ा लगा सकता है।

- दूसरी दावेदार हैं राम रहीम की खास शिष्‍या विपसना। 35 साल की गुरु ब्रह्मचारी विपसना कई वर्षों से डेरा से जुड़ी रही हैं। विपसना डेरा में दूसरे स्थान पर मानी जाती हैं। वे ही हैं जिनके पास अपनी ओर से चीजों पर फैसला करने का एकमात्र अधिकार है। विपसना ने ग्रेजुएशन तक की पढ़ाई डेरा द्वारा चलाए जाने वाले गर्ल्स कॉलेज से ही पूरी की है। विपसना के अंडर 250 लोगों की टीम काम करती है जिसमें से करीब 150 महिलाएं हैं। 

- अगर विपसना को डेरा की कमान नहीं सौंपी जाती, तो एक और दावेदार है इस लिस्‍ट में। काफी अहम ओर खास है वो हैं राम रहीम की गोद ली हुई बेटी हनीप्रीत। 25 अगस्‍त को पंचकूला में राम रहीम के साथ साये की तरह साथ रहीं हनीप्रीत अपने पिता की काफी लडली हैं। हनीप्रीत भी विपसना की तरह ही गुरु ब्रह्मचारी हैं। वो पिछले सात सालों से डेरा प्रमुख के साथ हैं और उनकी खास मानी जाती हैं। हनीप्रीत गुरमीत राम रहीम की सभी फिल्मों में भी काम कर चुकी हैं। अगर डेरा प्रमुख अपनी सहमति देते हैं तो हनीप्रीत भी सत्ता संभाल सकती हैं। हनीप्रीत इंसा गुरमीत राम रहीम की गोद ली हुई बेटी हैं। इस वजह से इनकी नियुक्ति में डेरा प्रमुख के चयन का ऊपर लिखा परिवार वाला नियम भी आड़े नहीं आता है।

- डेरा प्रमुख राम रहीम के  माता नसीब कौर  उनकी पत्नी हरप्रीत कौर बेटी अमनप्रीत कौर  चरणप्रीत कौर बेटा जसमीत सिंह है  सूत्रों के अनुसार सारे परिवार का जोर जसमीत को बनाने में लगा हुआ है और यह हम फैसला बाबा ओर उनकी कमेटी के लोगो ने लेना है परिवार के लोग कमेटी के लोगो को मनाने में लगे हुये है लेकिन बाबा की पहली पंसद हनिप्रीत कौर हो सकती है क्योंकि वो बाबा की पहली पसंद है ना कि बेटा ।