इस गांव पर है प्रेतात्मा का साया, हर घर से ले चुका है एक आदमी की बलि

नई दिल्ली (8 मई): मध्य प्रदेश के खरगौन जिले का एक छोटा सा गांव है बडी। इस गांव की कुल आबादी है 2500 और अब तक इस गांव में 350 लोग आत्महत्या कर चुके हैं। गांव वालों का मानना है कि इस गांव पर किसी बुरी आत्मा का साया है। वो हर साल किसी न किसी आदमी के सिर पर सवार होती है और उसकी बली ले लेती है। गांव के मुखिया राजेंद्र सिसोदिया का कहना है कि छोटे से गांव के आस-पास हरियाली है। खाने-कमाने के लिए भी बहुत कुछ है, फिर पता नहीं क्यों हर साल कोई न कोई एक शख्स अकाल मौत के काल में समा जाता है।

गांव के तीन सौ बीस परिवार ऐसे हैं जिसके किसी न किसी एक सदस्य ने आत्महत्या की है। इस साल अब तक 80 लोग आत्म हत्या कर चुके हैं। ग्राम प्रधान राजेंद्र सिसोदिया के दो भाई और मां भी आत्महत्या कर चुके हैं। कनाडा के एक गांव अट्टावापिसकेट में भी पिछले साल सितंबर से अब तक एक सौ ग्यारह लोगों ने आत्महत्या कर ली थी। सरकार ने इन आत्महत्याओं को रोकने के लिए आपातकाल की घोषणा करनी पडी थी। वैज्ञानिकों का मानना है कि बडी में आत्महत्याओँ के पीछे पेस्टीसाइड का अत्यधिक मात्रा में उपयोग हो सकता है। जो धीरे-धीरे शरीर में जाकर लोगों के नर्वस सिस्टम को प्रभावित करता है और वो किसी भी छोटी सी बात पर खुदकुशी ही बेहतर विकल्प मानते हैं। हालांकि मध्यप्रदेश या भारत सरकार ने अभी तक इस बारे में अभी तक कोई बयान नहीं दिये हैं।