इन लोगों के खाते में जमा रुपये की जांच नहीं करेगी सरकार

नई दिल्ली (22 फरवरी): 70 साल से ज्याद के उम्र के बुजुर्गों को सरकार ने बड़ा राहत देने का ऐलान किया है। अब इनकम टैक्स डिपार्टमेंट बुजुर्गों द्वारा नोटबंदी के दौरान उनके खातों में पांच लाख रुपये तक की जमा की गई राशि पर कोई कार्रवाई नहीं करेगा। हालांकि, अन्य लोगों के लिए यह सीमा 2.5 लाख रुपये रखी गई है।

इनकम टैक्स विभाग के मुताबिक ‘70 साल तक की आयु के लोगों के लिए उनके खातों में जमा की सीमा ढाई लाख रुपये तक है, जबकि 70 वर्ष या इससे अधिक वर्ष के बुजुगों के बैंक खातों में यह सीमा पांच लाख रुपये तक है। इसमें जमा राशि का स्रोत घरेलू बचत या पहले की कमाई से की गई बचत है और जहां उस व्यक्ति की कोई कारोबारी आय नहीं है।

साथ ही आयकर विभाग का कहना है कि इससे अधिक जमाओं के मामले में भी जो स्पष्टीकरण मांगा जायेगा वह बिना कारण-बताओ नोटिस या किसी भी नोटिस के बिना होगा। इसमें केवल ई-वेरिफिकेशन होगा, कोई तीसरे पक्ष द्वारा वेरिफिकेशन अथवा जांच नहीं होगी।