यहां अब भी हो रहा पुरानी करंसी में बिजनस, धड़ल्ले से लिए जा रहे

नई दिल्ली(1 दिसंबर): 500 और 1000 का नोट बंद हुए तीन हफ्ते हो गए हैं लेकिन देश के प्रमुख बाजारों में इसका इस्तेमाल अब भी हो रहा है। दिल्ली के जनपथ, मुंबई के क्राफोर्ड, कोलकाता के न्यू मार्केट जैसे बाजारों के छोटे और मझोले रिटेलर्स के अलावा गोवा के फुटपाथ पर बाजार लगाने वाले इन पुराने करंसी नोट से ही लेनदेन कर रहे हैं। 

- ये लोग इसलिए पुराने नोटों में बिजनस कर रहे हैं कि नोटबंदी के चलते उनका धंधा मंदा हो गया है और उनको डर सता रहा है कि कहीं ये सीजन एकदम बर्बाद ना हो जाए।

- न्यू मार्केट, गरियाहाट और वरदान मार्केट जैसे कोलकाता के बड़े और पुराने बाजारों की दुकानों में नोटबंदी का ऐलान होने के बाद तीन चार दिन के लिए 500 और 1000 के पुराने नोटों का लेनदेन बंद कर दिया गया था। दुकानदारों को लगा कि जल्द नए नोट मुहैया करा दिए जाएंगे और उनका बिजनस फिर सामान्य स्तर पर आ जाएगा, लेकिन ऐसा हुआ नहीं।

- छोटे रिटेलर्स और फुटपाथ पर दुकान लगाने वालों का कहना है कि उनकी सेल 60 से 80 पर्सेंट तक घटी है। इसके चलते उन लोगों ने पूरे 500 और 1000 की शॉपिंग के लिए फिर से पुराने नोट लेना शुरू कर दिया।

- बेंगलुरु के चर्च स्ट्रीट की कुछ दुकानों पर 4,600 रुपये या कम के बिल पर पुराने नोट लिए जा रहे हैं।