8 नवंबर से पहले बैंकों में जमा हुए 6 लाख करोड़ किसके: राहुल

नई दिल्ली (19 दिसंबर): कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने यूपी के जौनपुर में रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि मोदी जी यह बताएं कि 8 नवंबर से पहले बैंकों में जमा हुए 6 लाख करोड़ रुपये किसके थे।

राहुल गांधी ने कहा कि नोटबंदी का फैसला अमीरों का कर्ज माफ करने और उन्हें फायदा पहुंचाने के लिए था। मोदी जी ने हर साल करीब 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन उनकी नोटबंदी के कारण लोगों को रोजगार तो नहीं मिला, वह बेरोजगार जरूर हो गए।

- 8 नवंबर से पहले ही देश के बैंकों में करीब 6 लाख करोड़ रुपये जमा हुआ था, मोदी जी को यह बताना चाहिए कि वह किसका था।

- 2 करोड़ रोजगार सालाना देने की जगह मोदी जी ने किया बेरोजगार।

- मोदी जी ने गरीबों पर फायर बॉम्बिंग की। किसानों को चोट पहुंचाई।

- नोटबंदी से कालीन और चमड़े का व्यापार खत्म। मोदी जी ने गरीबों से बिना पूछे उनका खून निकाल लिया।

- कैशलेस सिस्टम में 5 प्रतिशत सीधे मोदी जी के दोस्तों के पास सीधे जाएगा।

- मोदी जी के इस फैसले ने दिहाड़ी पर जीने वाले भारतीयों को बर्बाद करके रख दिया है।

- 94 फीसदी काले धन के पीछे क्यों नहीं गए प्रधानमंत्री मोदी।

- पीएम मोदी के डिजिटल ट्रांजेक्शन पर सवाल उठाते हुए कहा कि सारा कैश काला धन नहीं है।

- किसान कैश से बीज खरीदे वो काला धन नहीं है। सिर्फ 6 प्रतिशत काला धन कैश के रूप में है।

- 94 प्रतिशत काला धन जमीन, सोना और विदेश में है।

- सरकार के पास स्विस अकाउंट वालों के नाम हैं। स्विस सरकार ने मोदी सरकार को लिस्ट दी है।

- देश में काला धन सिर्फ 1 फीसदी लोगों के पास है, जिसके लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 99 प्रतिशत लोगों को परेशान करके रख दिया।

- पीएम मोदी ने 99 फीसदी ईमानदार भारतीयों का पैसा अपने पास कैद करके रख लिया है।

- पीएम की दोस्ती अमीरों के साथ हैं और उन्होंने इन्हीं को फायदा पहुंचाने के लिए नोटबंदी का निर्णय लिया।

- देश का 60 प्रतिशत पैसा देश के 1 प्रतिशत के लोगों को दिया गया है।

- 50 परिवारों के पास सबसे ज्यादा पैसा है और इन परिवारों के लोग पीएम के साथ अमेरिका और चीन जाते हैं।

- मोदी जी अमीरों के साथ जहाज में बैठते हैं और उनका ही कर्जा माफ करते हैं।

- अमीरों के 10 लाख 10 हजार करोड़ माफ करने के लिए मोदी जी ने नोटबंदी की।

- 24 हजार और 2 हजार की लिमिट भी अमीरों का पैसा माफ करने के लिए की गई।