'हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे'

नई दिल्ली (3 दिसंबर): प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुरादाबाद की परिवर्तन रैली में उन लोगों पर भी निशाना साधा जो कह रहे हैं कि नोटबंदी के बाद बीजेपी सरकार को काफी नुकसान उठाना पड़ेगा। उन्होंने कहा कि न मेरा कोई नेताजी है, न हाईकमान है। मेरा जो कुछ है, आप ही लोग हैं। जनता ही मेरी हाईकमान है। विरोधी लोग ज्यादा से ज्यादा मेरा क्या कर लेंगे? हम तो फकीर आदमी हैं। झोला लेकर चल पड़ेंगे।

मोदी ने यह भी कहा कि आज कतार-कतार चिल्लाने वाले नेता ये भूल गए कि कभी चीनी के लिए, कभी मिट्टी के तेल के लिए कतारें लगानी पड़ती थी। इन कतारों को खत्म करने के लिए मैंने आखिरी कतार लगाई है।''

'हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे' प्रधानमंत्री ने जनता से कहा कि आप लोग मेरे आलाकमान हैं और कोई नहीं। गरीबों को हक दिलाना गुनाह है क्या? भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने वाला गुनहगार है क्या? मुझे मेरे देश के ही कुछ लोग गुनहगार बना रहे हैं। भ्रष्टाचार दूर करने के लिए कानून की मदद लेनी पड़ेगी और भ्रष्टाचारियों को किनारे लगाना पड़ेगा। मैं आपके लिए लड़ाई लड़ रहा हूं। ज्यादा से ज्यादा मेरा क्या कर लेंगे। हम तो फकीर आदमी हैं, झोला लेकर चल पड़ेंगे।